Russia Ukraine War : यूक्रेन के डर्टी बम की चर्चा से मची खलबली, रूस के दावे

(एन एल एन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ) : क्रीमिया ब्रिज हुए हमले के बाद रूस नए सिरे से हमला करना शुरू कर चुका है। इस बीच अब इसमें पाकिस्‍तान का मुद्दा फिर गरम हो गया है। दरअसल, यूक्रेन की सेना को तोप के गोले सप्‍लाइ कर रहे पाकिस्‍तान को लेकर रूस के सांसद ने सनसनीखेज दावा किया है। रूसी सांसद इगोर मोरोजोव का कहना है कि यूक्रेन और पाकिस्‍तान ने परमाणु हथियार बनाने की तकनीक के बारे में चर्चा की है। इगोर रूस के रक्षा कमिटी फेडरेशन काउंसिल के सदस्‍य हैं। इससे पहले पाकिस्‍तान पर उत्‍तर कोरिया और लीबिया जैसे देशों को परमाणु तकनीक बेचने का खुलासा हो चुका है। रूस और यूक्रेन (Russia-Ukraine) के बीच युद्ध शुरू हुए 9 महीने से ज्यादा का समय हो गया है, लेकिन रूस अब तक भी पीछे हटने को किसी भी हालत में तैयार नहीं है। इगोर ने कहा, ‘यूक्रेन के विशेषज्ञों ने पाकिस्‍तान की यात्रा की है और इस्‍लामाबाद (Islamabad) से भी एक प्रतिनिधिमंडल यूक्रेन गया है ताकि परमाणु बम (Nuclear weapon) बनाने की तकनीक पर चर्चा की जा सके।’ उन्‍होंने यूक्रेन के परमाणु बम को लेकर आयोजित पत्रकार सम्‍मेलन में यह दावा किया। रूस ने यह दावा ऐसे समय पर किया है जब उसने यूक्रेन पर डर्टी बम के इस्‍तेमाल करने की तैयारी की दलील को तेज कर दिया है। रूस की सरकारी न्‍यूज एजेंसी रिया नोवोस्‍ती ने इगोर के बयान की रिपोर्ट को प्र‍काशित किया है।
इगोर ने इस बात की आशंका को खारिज नहीं किया कि यूक्रेन के राष्‍ट्रपति जेलेंस्‍की ने ब्रिटेन और अमेरिकी सहयोगियों से परमाणु हथियारों के बारे में चर्चा की हो। रूसी नेता ने अपने दावे के समर्थन में कोई सबूत नहीं दिया है। पाकिस्‍तान की हथियारों की कंपनी यूक्रेन को हथियार और गोला बारूद की सप्‍लाइ की है। पाकिस्‍तान यूक्रेन की सेना को ग्‍लव्‍स की भी सप्‍लाइ कर रहा है। रूसी नेता का अगर दावा सही है तो एक बार फिर से कंगाल पाकिस्‍तान की सेना परमाणु बम की तकनीक बेचकर पैसा कमाने की फिराक में है। इससे पहले पाकिस्‍तानी वैज्ञानिक एक्‍यू खान ने उत्‍तर कोरिया को परमाणु बम की तकनीक दी थी। कहा जाता है कि इसके बदले में उसे उत्‍तर कोरिया ने मिसाइल तकनीक दी थी।
रूसी सांसद ने दावा किया कि यूक्रेन की डर्टी बम बनाने की क्षमता किसी से छिपी हुई नहीं है। हालांकि उन्‍होंने जोर देकर कहा कि वित्‍तपोषण का मुद्दा मूलभूत है। उन्‍होंने यूक्रेन के डर्टी बम की चर्चा के दौरान कहा कि यूक्रेन का खतरा वास्‍तविक है। इगोर ने कहा कि यूक्रेन अपने बम का इस्‍तेमाल करने के लिएटोचका यू का इस्‍तेमाल कम क्षमता के परमाणु हमले के लिए कर सकता है। उन्‍होंने यह भी कहा कि अमेरिका की संसद ने इस बात की अनुमति दी है कि राष्‍ट्रपति कम क्षमता के परमाणु बम का दुनिया में कहीं भी इस्‍तेमाल कर सकते हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.