प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा आज, काशी- तमिल संगमम का उद्घाटन, 200 से अधिक छात्र जाने-माने कलाकार व विशिष्ट जन शामिल

(एन एल एन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ) : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी(modi) आज महा मना की बगिया काशी हिंदू विश्वविद्यालय( bhu) के एंफीथियेटर परिसर श में आयोजित काशी -तमिल ( kashi- tamil)संगमम का उद्घाटन करेंगे।

महादेव की नगरी में उत्तर व दक्षिण की संस्कृतियों से मिलने केसांची काशीवासी संघ तमिलनाडु के नवरत्नों की भांति इस कार्यक्रम में नो धर्माचार्य दक्षिणी के विभिन्न कालेजों विश्वविद्यालय के 200 से अधिक छात्र जाने-माने कलाकार व विशिष्ट जन शामिल होंगे।

एक माह तक चलने वाले ‘काशी तमिल संगमम’ की तैयारी पूरी हो चुकी है। बीएचयू के एंफीथियेटर मैदान में आयोजित मुख्य कार्यक्रम में प्रधानमंत्री के भव्य समारोह की तैयारी है। शुक्रवार की शाम तक केन्द्रीय मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान ने व्यवस्थाओं का जायजा लेने के बाद तैयारियों को जिला प्रशासन के अफसरों के साथ मिलकर अन्तिम रूप (फाइनल टच) दे दिया।

काशी तमिल संगमम का शनिवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी शुभारंभ करेंगे। बीएचयू के एंफीथियेटर मैदान में आयोजित भव्य समारोह में प्रधानमंत्री तमिलनाडु के प्रमुख मठ मंदिरों के अधीनम (महंत) को सम्मानित करेंगे। वहां के आईआईटी के छात्रों से संवाद भी करेंगे। इस दौरान तमिल भाषा में लिखी गई धार्मिक पुस्तक तिरुक्कुरल व काशी-तमिल संस्कृति पर लिखी गईं किताबों का प्रधानमंत्री विमोचन भी करेंगे। करीब दो घंटे के ठहराव में प्रधानमंत्री कार्यक्रम स्थल पर 75 स्टालों की प्रदर्शनी भी देखेंगे। इस दौरान तमिलनाडु सहित अन्य प्रदेशों से आए करीब 12 हजार से ज्यादा अतिथियों एवं काशीवासियों को संबोधित करेंगे। कार्यक्रम में मंच पर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, तमिलनाडु के राज्यपाल आरएन रवि, केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान भी मौजूद रहेंगे।

इसके पहले प्रधानमंत्री का स्वागत बाबतपुर एयरपोर्ट पर राज्यपाल आनंदीबेन पटेल के साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ करेंगे।

उल्लेखनीय है कि 16 दिसंबर तक चलने वाले संगमम में चार अलग-अलग सप्ताह में 12 ट्रेनों से ढाई हजार तमिल प्रतिनिधिमंडल वाराणसी आएंगे। हर डेलीगेट दो दिन काशी-तमिल संगमम में रुकेगा। यहां पर बीएचयू के छात्रों, शोध छात्रों और एकेडमिक लोगों के साथ सेमिनार होंगी। वहीं, यहां पर सजे 75 स्टालों पर तमिलनाडु का साहित्य, परिधान, व्यंजन, हस्तकला, हथकरघा, हेरिटेज, वास्तुकला, मंदिर, त्योहार, खानपान, खेल, मौसम, शिक्षा और राजनीतिक जानकारियां दी जाएंगी। प्रतिनिधिमंडल वाराणसी के मंदिर, घाट, सारनाथ, हेरिटेज घूमेंगा। यहां से प्रयागराज संगम और अयोध्या में निर्माणाधीन राम मंदिर का दर्शन करके सभी लोग वापस काशी आएंगे। यहां से वे तमिलनाडु लौट जाएंगे। माहभर तक तमिलनाडु की संस्कृति से जुड़े सांस्कृतिक कार्यक्रमों में मुख्यतः मीनाक्षी चितरंजन का भरतनाट्यम, तमिलनाडु का फोक म्यूजिक, इरुला व अन्य ट्राइबल नृत्य, विल्लुपाट्ट एक प्राचीन संगीतमय कथा-कथन, पौराणिक ऐतिहासिक ड्रामा, शिव पुराण, रामायण और महाभारत पर आधारित कठपुतली शो आदि लोग देख सकेंगे।

आपको बता दें कि प्रधानमंत्री दोपहर आज अपने संसदीय क्षेत्र काशी पहुंचेंगे। इसके बाद वह राज्य की हेलीकॉप्टर से बीएचयू हेलीपैड आएंगे इसके बाद कारसे एंफीथियेटर आएंगे प्रधानमंत्री व तमिल से आए अतिथियों का स्वागत नाधास्वरम से होगा प्रधानमंत्री कार्यक्रम स्थल पर लगभग 2 घंटे रहेंगे। कार्यक्रम स्थल में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तमिल भाषा में लिखी गई धार्मिक पुस्तक तिरुक्कुरल व काशी तमिल संस्कृत पर लिखी पुस्तकों का विमोचन करेंगे और तमिल से आए छात्रों से संवाद करेंगे।
तमिलनाडु सहित दक्षिण भारत के कलाकार तीन कार्यक्रम प्रस्तुत करेंगे इसमें ख्यात संगीत का का संगीत व संस्कृत कार्यक्रम की प्रस्तुति शामिल होगी अंत में प्रधानमंत्री संबोधित करेंगे इसका प्रधानमंत्री विश्व हेलीपैड से बाबत एयरपोर्ट आएंगे और वापस दिल्ली प्रस्थान करेंगे।

प्रधानमंत्री सुरक्षा को लेकर एयरपोर्ट से बीएचयू तक 44 मजिस्ट्रेट लगाए गए हैं वही चप्पे-चप्पे पर पुलिस बल को तैनात किया गया है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.