मुख्यमंत्री ने गोरखपुर को 1822 करोड़ रुपये की 4 प्रमुख परियोजनाओं का शिलान्यास

(एन एल एन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ) : उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 27 नवंबर को शुरु होने वाले आठ दिवसीय दौरे में गोरखपुर में 1822 करोड़ रुपये की चार प्रमुख परियोजनाओं का शिलान्यास करेंगे। मुख्यमंत्री इस दौरान 474.42 करोड़ रुपये की लागत वाले गोड़धोइया नाला एवं रामगढ़ताल के जीर्णोद्धार तथा नाले के इंटरसेप्शन, डायवर्जन व ट्रीटमेंट के निर्माण से संबंधित परियोजना का शिलान्यास तथा गोरखपुर सीवरेज योजना सी पार्ट 2 की भी आधारशिला रखेंगे। इस परियोजना की लागत 561.34 करोड़ रुपये है। वह 96.50 करोड़ रुपये की लागत वाले जेल बाईपास फोर लेन पर खजांची चौराहे पर फ्लाईओवर का भी शिलान्यास होगा।

इसके साथ ही आयुष विश्वविद्यालय की महत्ता के द्दष्टिगत भटहट से बासस्थान मार्ग के फोर लेन में चौड़ीकरण व सुद्दढ़ीकरण कार्य का शिलान्यास भी मुख्यमंत्री करेंगे। इस प्रोजेक्ट की लागत 689.35 करोड़ रुपये है। इन सभी चार महत्वपूर्ण विकास परियोजनाओं के शिलान्यास का समारोह 27 नवंबर को अपराह्न 4 बजे से वीर बहादुर सिंह स्पोट्र्स कॉलेज परिसर में हूआ जहां मुख्यमंत्री जनसभा को भी संबोधित करेंगे। मुख्यमंत्री दूसरे दिन 28 नवंबर को सुबह 10 बजे चंपा देवी पार्क मैदान में आयोजित मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के समारोह में शामिल होंगे और नवयुगलों को आशीर्वाद देंगे। इसके बाद मुख्यमंत्री 30 नवंबर को पुन: गोरखपुर आएंगे। गोरखपुर औद्योगिक विकास प्राधिकरण (गीडा) के स्थापना दिवस समारोह में शामिल होकर करीब 200 करोड़ रुपये के विकास कार्यों का शिलान्यास व लोकार्पण करेंगे। उनके हाथों प्लास्टिक पार्क, रेडीमेड गारमेंट पार्क तथा फ्लैटेड फैक्ट्री का शिलान्यास भी होगा।

वह चार दिसंबर को चार प्रमुख विकास परियोजनाओं की सौगात देंगे तथा राप्ती नदी में गिरने वाले कटनिया/महेवा नाले के इंटरसेप्शन डायवर्जन एवं ट्रीटमेंट परियोजना, टीपीनगर चौराहे से देवरिया बाईपास तिराहा होते हुए पैडलेगंज तक सिक्स लेन फ्लाई ओवर के निर्माण तथा अतिरिक्त फोर लेन द्वारा देवरिया बाईपास रोड को जोड़ने के लिए फ्लाई ओवर के निर्माण कार्य का भी शिलान्यास करेंगे। इसी दिन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शाम 5 बजे गीता प्रेस में आयोजित गीता जयंती समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में सम्मिलित होंगे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.