मिर्जापुर में डालमिया, जिंदल व आर एल जे, 800 करोड़ रुपये से ज्यादा का निवेश

(एन एल एन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ) : व्यापार के लिए सकारात्मक वातावरण तैयार करने के लिए प्रदेश सरकार का पूरा फोकस निवेश व बड़े उद्योगों का हब बनाने पर है । इसी क्रम में दशकों तक उद्योगों की बाट जोहते रहे मिर्जापुर के दिन अब फिरने लगे हैं । धीरे-धीरे मिर्जापुर भी औद्योगिक इकाइयों की स्थापना के लिए निवेशकों का पसंदीदा क्षेत्र बन रहा है । अब यहां भी डालमिया, जिंदल व आरएलजे जैसी तीन बड़ी कंपनियां निवेश करने जा रही हैं । माना जा रहा है कि ज़िले में इन कंपनियों के भारी निवेश से न सिर्फ औद्योगिक विकास होगा, बल्कि रोज़गार पैदा होने की सूरतें भी बनेंगी ।
जनपद में तीनों कंपनियां डालमिया, जिंदल व आरएलजे 800 करोड़ रुपये से ज्यादा का निवेश करेंगी । डालमिया की ओर से लालगंज क्षेत्र में करीब 35.75 एकड़ क्षेत्रफल में सीमेंट फैक्ट्री का निर्माण कराया जाएगा । ज़मीन मिलने के बाद यहां तेज़ी के साथ काम किया जा रहा है । इसी तरह चुनार क्षेत्र में आरएलजे कंपनी 16 एकड़ क्षेत्रफल में सीमेंट फैक्ट्री स्थापित कर सौ करोड़ से अधिक का निवेश करने वाली है ।
जिंदल कंपनी सोलर प्लांट की स्थापना करेगी । यह सोलर प्लांट पावर हाउस के पास स्थापित किया जाएगा । सोलर प्लांट के लिये 50 एकड़ ज़मीन भी मिल गई है, हालांकि अभी प्रदूषण विभाग की तरफ से एनओसी नहीं मिलने के कारण काम शुरू नहीं हो पाया है । उद्योग उपायुक्त अशोक कुमार ने बताया डालमिया कंपनी 800 करोड़ रुपये, आरएलजे सौ करोड़ और जिंदल कंपनी लगभग 80 करोड़ रुपये का निवेश करने जा रही है । कुमार के मुताबिक जनपद में इस इन्वेस्टमेंट से न सिर्फ ज़िले का विकास होगा, बल्कि प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष रूप से एक हज़ार लोगों को रोज़गार भी मिलेगा ।
जहां तीनों कंपनियां मिर्ज़ापुर में 800 करोड़ रुपये का निवेश करेंगी। जनपद के लालगंज में डालमिया की ओर से लगभग 660 करोड़ की लागत से सीमेंट फैक्ट्री का निर्माण कराया जाएगा। करीब 35.75 एकड़ के क्षेत्रफल में सीमेंट फैक्ट्री स्थापित की जाएगी। जमीन मिलने के बाद बाउंड्रीवाल का काम शुरू हो गया है। जहां तेजी के साथ काम किया जा रहा है।
चुनार क्षेत्र में आरएलजे कंपनी के द्वारा सौ करोड़ से अधिक का निवेश किया जा रहा है। जहां आरएलजे कंपनी भी 16 एकड़ क्षेत्रफल में सीमेंट फैक्ट्री स्थापित करेगी। सौर ऊर्जा के क्षेत्र में जिंदल कंपनी इन्वेस्ट करने जा रही है। जिंदल कंपनी 60 करोड़ रुपये की लागत से सोलर प्लांट की स्थापना करेगी। सोलर प्लांट के लिए 50 एकड़ जमीन भी मिल गई है। हालांकि, अभी प्रदूषण विभाग की तरफ से एनओसी नहीं मिली है, जिससे कार्य शुरू नहीं हो पाया है। यह सोलर प्लांट पावर हाउस के पास स्थापित किया जाएगा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.