Coimbatore Car Blast : आत्मघाती इंजीनियर, NIA का बड़ा खुलासा, दिवाली के एक दिन पूर्व मंदिर उड़ाना चाहता था

(एन एल एन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ) : एनआईए सूत्रों का कहना है तमिलनाडु के कोयंबटूर में बीते दिनों हुए एक मंदिर के बाहर हुए कार बम धमाके को लेकर एनआईए ने बड़ा खुलासा किया है। एनआईए के अनुसार धमाके में मृत 29 साल का इंजीनियर एक आत्मघाती हमलावर था। आतंकी संगठन आईएस की विचारधारा ने मुबीन को कट्टरपंथी बना दिया। हालांकि, उसे आतंकवाद का पूरा प्रशिक्षण नहीं मिला, इसलिए वह विस्फोटकों को संभाल नहीं सका। धमाके के लिए उसने इंटरनेट से जानकारियों जुटाई थीं।
जांच एजेंसी का कहना है कि कार में दो एलपीजी सिलेंडर थे। इनमें से एक फटा था। यदि दूसरा भी फट जाता तो मंदिर की ओर जाने वाली सड़क के किनारे के मकान भी क्षतिग्रस्त हो सकते थे। सूत्रों ने कहा था कि घटना स्थल से विस्फोटक सामग्री के अवशेषों के अलावा छर्रे व कीलें भी मिली थीं। संभवत: इन्हें गैस सिलेंडर में भरकर विस्फोटक के लिए तैयार किया गया था। कार सिलेंडर बम धमाका मामले में पुलिस व एनआईए ने अब तक छह आरोपियों को गिरफ्तार किया है। ये सब आईएस से संबंध व सहानुभूति रखते थे। इनसे पूछताछ के आधार पर जांच एजेंसी ने दावा किया कि मुबीन की योजना थी कि आत्मघाती बम धमाके से मंदिर और उसके आसपास के 50 से 100 मीटर के दायरे में आने वाले भवनों को नुकसान होगा, लेकिन उसकी साजिश विफल रही।
मुबीन और उसके दो कथित सहयोगियों मोहम्मद अजरूद्दीन और के अफसर खान ने दो एलपीजी सिलेंडरों के साथ कार में विस्फोटक सामग्री जैसे पोटेशियम नाइट्रेट, एल्यूमीनियम पाउडर, सल्फर, चारकोल, कील और छर्रों से भरे स्टील के तीन ड्रम रखे थे। सीसीटीवी कैमरों से इसके सबूत मिले हैं। वीडियो फुटेज में विस्फोट से पहले मुबीन और उसके कथित सहयोगियों की गतिविधियां हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.