चीन में मिला ‘जूनोटिक लांग्या वायरस’, 35 लोग संक्रमित, जानें कितना खतरनाक

चीन में मिला 'जूनोटिक लांग्या वायरस', 35 लोग संक्रमित, जानें कितना खतरनाक

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ): कोरोना वायरस के बाद अब चीन में एक नए वायरस का प्रकोप शुरू हो गया है और इस कारण से करीब 35 लोग संक्रमित हो गए हैं। मिली जानकारी के बाद चीन में Zoonotic Langya Virus के बारे में पता चला है। लैंग्या वायरस चीन के शेडोंग और हेनान प्रांतों में मिला है। ताइपे टाइम्स ने जानकारी दी है कि Zoonotic Langya Virus जानवरों से इंसानों में फैल सकता है। ताइवान सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल ने कहा है कि चीन में अभी तक करीब 35 लोग Zoonotic Langya Virus से संक्रमित हो चुके हैं। ताइवान इस वायरस के संक्रमण की पहचान और निगरानी के लिए न्यूक्लिक एसिड टेस्टिंग मेथड शुरू करेगा।

ताइवान के CDC के उप महानिदेशक चुआंग झेन-सियांग ने रविवार को जानकारी दी है कि इस वायरस के बारे में अध्ययन से पता चला है कि वायरस का मानव-से-मानव संचरण नहीं होता है। उन्होंने कहा कि CDC अभी यह नहीं कह सकता कि वायरस एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में नहीं फैल सकता है। उन्होंने लोगों से इस बारे में तब तक सतर्क रहने को कहा है, जब तक कि इस वायरस के बारे में और जानकारी नहीं आ जाती।

सीडीसी के उप महानिदेशक का कहना है कि अब तक घरेलू पशुओं पर किए गए सर्वेक्षण में बकरियों में 2 फीसदी और कुत्तों में 5 फीसदी मामले पाए गए हैं। उन्होंने कहा कि 25 जंगली जानवरों की प्रजातियों पर किए गए परीक्षणों के परिणाम बताते हैं कि Zoonotic Langya Virus को फैलाने का मुख्य कारण हो सकता है। न्यू इंग्लैंड जर्नल ऑफ मेडिसिन में गुरुवार को प्रकाशित “चीन में ज्वर के रोगियों में एक Zoonotic Langya Virus” रिपोर्ट में कहा गया है कि चीन में एक नए वायरस की पहचान की गई है, जो मनुष्यों में बुखार लाता है।

चीन के शानदोंग और हेनान प्रांतों में Zoonotic Langya Virus से संक्रमित 35 मरीज मिले हैं। चुआंग ने कहा कि चीन में 35 मरीजों का आपस में कोई संपर्क नहीं रहा है, न ही इन मरीजों के परिवारों और करीबी रिश्तेदारों में कोई संक्रमित पाया गया है। 35 में से 26 मरीजों में बुखार, थकान, खांसी, भूख न लगना, मांसपेशियों में दर्द, सिरदर्द और उल्टी जैसे लक्षण पाए गए हैं।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.