संयुक्‍त अरब अमीरात के दुबई शहर में बन रहे भव्‍य हिंदू मंदिर पर सोशल मीडिया में ‘महाभारत’ शुरू हो गई है।

संयुक्‍त अरब अमीरात के दुबई शहर में बन रहे भव्‍य हिंदू मंदिर पर सोशल मीडिया में 'महाभारत' शुरू हो गई है।

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ): संयुक्‍त अरब अमीरात के दुबई शहर में बन रहे भव्‍य हिंदू मंदिर पर सोशल मीडिया में ‘महाभारत’ शुरू हो गई है। दुबई के इस आलीशान मंदिर में 16 देवी-देवताओं की मूर्तियों को रखा जाएगा। इस मंदिर का 4 अक्‍टूबर को शानदार तरीके से अनावरण किया जाएगा। मुस्लिम देश यूएई में हिंदू मंदिर बनने की खबर सोशल मीडिया में आने के बाद घमासान मच गया है और कट्टरपंथी इसका जमकर विरोध कर रहे हैं। वहीं हिंदू समुदाय के लोग यूएई के इस कदम की तारीफ कर रहे हैं।

खलीज टाइम्‍स की रिपोर्ट के मुताबिक दशहरा के दिन 5 अक्‍टूबर को इस मंदिर को दुनिया के लिए खोल दिया जाएगा। सिंधु गुरु दरबार मंदिर के एक ट्रस्‍टी राजू श्राफ ने इसकी पुष्टि की है। इस मंदिर को दुबई के जेबेल अली इलाके में बनाया जा रहा है। इसी इलाके में एक सिख गुरुद्वारा और कई चर्च भी मौजूद हैं। इस मंदिर के अनावरण के दौरान यूएई सरकार के अधिकारी और विशिष्‍ट अतिथि मौजूद रहेंगे। इस मंदिर में शादी, हवन और अन्‍य निजी कार्यक्रम आयोजित किए जा सकेंगे।

यह मंदिर काफी बड़ा है और एक बार में 1000 से लेकर 1200 भक्‍त मंदिर में पूजा कर सकेंगे। इस मंदिर की तस्‍वीरों को ट्विटर पर यूएई के रहने वाले हसन सजवानी ने शेयर की हैं। इन तस्‍वीरों के सामने आने के बाद जहां हिंदू इसकी जमकर तारीफ कर रहे हैं, वहीं कट्टरपंथी भड़के हुए हैं। फैसल खान ने लिखा, ‘बीजेपी के अतिवादी हिंदू भारत में मस्जिद को नष्‍ट कर रहे हैं और यूएई के लोग देश में हिंदूओं के लिए मंदिर बना रहे हो। आपके राजा को कितने पैसे की जरूरत है। बिजनस हित इसके पीछे है।’

कई और लोगों ने मुस्लिम देश यूएई में हिंदू मंदिर बनाने का विरोध किया है। वहीं एक बहुत बड़ी तादाद ऐसे लोगों की है जिन्‍होंने यूएई के कदम की जमकर तारीफ की है। यूएई के रहने वाले हसन सजवानी के ट्वीट को अब तक 5 हजार से ज्‍यादा बार रीट्वीट किया जा चुका है और करीब 28 हजार लोगों ने लाइक किया है। इस ट्वीट पर कॉमेंट करने वाले आफताब ने लिखा, ‘अविश्‍वसनीय लेकिन वास्‍तविकता। यूएई लोगों के दिलों को जीतने के मामले में उभरता हुआ सितारा है। वास्‍तव में कभी नहीं सोचा था कि एक दिन अरब धरती पर मंदिर को बनाने की इजाजत दी जाएगी। यह अन्‍य देशों के लिए उदाहरण है।’

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.