यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ द्वारा केरल पर दिए बयान को भाजपा का समर्थन ।

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ): बता दें कि सीएम योगी ने हाल ही में मतदाताओं को संदेश देते हुए आगाह किया कि अगर उन्होंने गलती की तो उत्तर प्रदेश जल्द, 'कश्मीर, बंगाल या केरल' बन सकता है।

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ): बता दें कि सीएम योगी ने हाल ही में मतदाताओं को संदेश देते हुए आगाह किया कि अगर उन्होंने गलती की तो उत्तर प्रदेश जल्द, ‘कश्मीर, बंगाल या केरल’ बन सकता है।राधाकृष्णन ने एजेंसी से बात करते हुए कहा, ‘मुझे योगी आदित्यनाथ के बयान में कुछ गलत नहीं लगता। उन्होंने कहा कि उसका मतलब है कि यूपी के मतदाताओं को बंगाल को नष्ट करने वाले कुछ समूहों की उपस्थिति से बचने के लिए अपने मताधिकार का इस्तेमाल समझदारी से करना चाहिए। आप जानिए कश्मीर में क्या होता है और आप जानते हैं कि बंगाल में क्या हुआ और ममता बनर्जी के शासन में अब क्या हो रहा है।’

राधाकृष्णन ने आगे कहा, ‘मुद्दा यह है कि सीएम पिनाराई विजयन और कांग्रेस नेता राहुल गांधी दोनों मानते हैं कि केरल सर्वश्रेष्ठ में से है और इसका माडल पूरी दुनिया के सामने पेश किया जाना चाहिए। मैं उस राय से पूरी तरह असहमत हूं। शिक्षा, स्वास्थ्य और सामाजिक कल्याण में योगदान को लेकर तथाकथित केरल माडल की सराहना की जाती है, लेकिन वास्तव में इन राजनीतिक संगठनों का क्या योगदान है? इसकी शुरुआत तत्कालीन राजाओं द्वारा की गई है। उन्होंने केरल में शिक्षा प्रणाली को बढ़ाने के लिए अपना योगदान दिया है।’केरल माडल पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि राज्य में उच्च शिक्षा की वर्तमान स्थिति क्या है? क्या इसे एक माडल के रूप में माना जा सकता है? कोई भी समझदार व्यक्ति यह नहीं कहेगा कि उच्च शिक्षा की प्रणाली पूरे राज्य में एक माडल है। कई मामलों में हम बिहार से भी बहुत पीछे हैं।

भाजपा नेता नेता ने दावा किया कि केरल प्रति व्यक्ति शराब की खपत में नंबर एक है। केरल दहेज के नाम पर महिलाओं को प्रताड़ित करने में नंबर एक है। दर्ज अपराध दरों में केरल नंबर एक पर है। उद्योग में हमारा योगदान शून्य है। हम कृषि उत्पादन नहीं बढ़ा रहे हैं। हमारे कृषि में उपस्थिति सराहनीय नहीं है। यह एक ऐसी अर्थव्यवस्था है जो मनी आर्डर सिस्टम पर निर्भर है। क्या इसे एक माडल राज्य के रूप में माना जा सकता है?लंबे अर्से बाद संसद का कोई सत्र शोर-गुल और हंगामे की छाया से मुक्त रहा।छोटा मगर लंबे अर्से बाद हंगामा मुक्त रहा संसद सत्र, पहले चरण के दौरान सरकार और विपक्ष में नहीं खिंची तलवारेंयोगी ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा था, ‘सावधान रहें। अगर आप इस बार चूक गए, तो पांच साल के प्रयासों पर पानी फिर जाएगा। यूपी को कश्मीर, केरल या बंगाल बनने में देर नहीं लगेगी। यह वोट बिना किसी डर के आपके जीवन की गारंटी होगा।’

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.