सऊदी प्रिंस पर किंग अब्दुल्ला की हत्या करवाने की योजना बनाने का गंभीर आरोप !

एक समाचार चैनल के 60 मिनट्स कार्यक्रम में जाबरी ने कहा कि उसे एक वीडियो के बारे में पता है, इसमें 2014 में MBS शाह अब्दुल्ला की हत्या करने के बारे में बात कर रहे हैं।

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ): सऊदी के राजपरिवार में अविश्वास के माहौल की खबरे हैं। सऊदी अरब के पूर्व खुफिया अधिकारी ने क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान पर बेहद संगीन आरोप लगाया है। साद अल-जाबरी ने अमेरिकी चैनल CBS न्यूज को दिए इंटरव्यू में बताया कि राजगद्दी हासिल करने के लिए क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान (MBS) तत्कालीन किंग अब्दुल्ला की हत्या करना चाहते थे।
अल-जाबरी अमेरिका और सऊदी अरब के आतंक विरोधी अभियानों में महत्वपूर्ण भूमिका निभा चुका है। वह इस समय कनाडा में निर्वासित की तरह जीवन बिता रहा है। अल जाबरी सऊदी अरब के पूर्व क्राउन प्रिंस और गृह मंत्री प्रिंस मोहम्मद बिन नायेफ का खास था। नायेफ को मोहम्मद बिन सलमान का प्रतिद्वंद्वी माना जाता है।
एक समाचार चैनल के 60 मिनट्स कार्यक्रम में जाबरी ने कहा कि उसे एक वीडियो के बारे में पता है, इसमें 2014 में MBS शाह अब्दुल्ला की हत्या करने के बारे में बात कर रहे हैं। उस समय प्रिंस सलमान सऊदी सरकार का हिस्सा नहीं थे। बता दें कि 2015 में किंग अब्दुल्ला का निधन हो गया था। जिसके बाद MBS के पिता किंग सलमान बिन अब्दुलअजीज ने राजगद्दी संभाली थी।
अल-जाबरी ने इंटरव्यू में कहा कि क्राउन प्रिंस उसकी हत्या करवा सकते हैं। MBS तब तक चुप नहीं बैठेंगे, जब तक मुझे मरवा नहीं देते। अल-जाबरी ने कहा कि क्राउन प्रिंस के पास जहरीली अंगूठी है। इसे उन्होंने रूस से खरीदा है। इसके जरिए किंग अब्दुल्ला को हाथ मिलाकर मारने का प्लान बनवाया गया था।
2020 में अल जाबरी ने अमेरिकी के वॉशिंगटन की एक अदालत में याचिका दायर की थी। याचिका में उसने आरोप लगाया था कि MBS उसकी हत्या करवाना चाहते हैं। जाबरी के याचिका लगाने के एक हफ्ते बाद ही वॉशिंगटन पोस्ट के पत्रकार जमाल खशोग्गी की हत्या हो गई थी।
इंटरव्यू में अल-जाबरी ने कहा कि MBS के पास एक टीम है। इसे उन्होंने टाइगर स्क्वॉड नाम दिया है। यह टीम लोगों को किडनैप करने और जान से मारने का काम करती है।
सऊदी सरकार ने अल-जाबरी के आरोपों पर CBS चैनल को जवाब दिया। उन्होंने कहा कि जाबरी पर सऊदी में आर्थिक अपराध करने का आरोप है। उसके आरोपों की कोई विश्वसनीयता नहीं है। फिलहाल इस खबर ने सऊदी अरब के साथ ही पूरी दुनिया को चौंका दिया है।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.