चक्रवाती तूफान तौकत के खतरनाक होने की आशंका के मद्देनजर केंद्र ने जारी किया परामर्श ।

मौसम विभाग ने बताया कि संभव है कि यह उत्तर-उत्तर पश्चिम की ओर बढ़े और 18 मई को गुजरात के पोरबंदर और नलिया तट से गुजरे।

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ): कोरोना संक्रमण के बीच देश कुछ हिस्सों में अब शक्तिशाली चक्रवाती तूफान का खतरा मंडरा रहा है। चक्रवाती तूफान तौकते मजबूत हो गया है और यह गुजरात एवं केंद्र शासित प्रदेश दमन-दीव एवं दादरा-नगर हवेली की ओर बढ़ रहा है। वहीं, इसकी वजह से मुंबई में तेज हवाएं चल सकती है और बारिश हो सकती है। भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) ने शनिवार को यह जानकारी दी। आईएमडी ने बताया कि इस चक्रवाती तूफान के और मजबूत होने और शनिवार रात तक बहुत गंभीर चक्रवाती तूफान में तब्दील होने की संभावना है। मौसम विभाग ने बताया कि संभव है कि यह उत्तर-उत्तर पश्चिम की ओर बढ़े और 18 मई को गुजरात के पोरबंदर और नलिया तट से गुजरे।
आईएमडी ने बताया कि इसकी वजह से इलाके में भारी बारिश हो सकती है। हालांकि, मुंबई जैसे शहरों के बहुत प्रभावित होने की संभावना नहीं है। मौसम विभाग ने बताया कि 17 मई को मुंबई सहित उत्तरी कोंकण के कुछ स्थानों पर तेज हवाओं के साथ-साथ भारी बारिश हो सकती है। चक्रवाती तूफान ‘तौकते को लेकर जारी चेतावनी के मद्देनजर गुजरात सरकार ने जानमाल के नुकसान से बचाव के लिए तैयारियां की हैं और एक नियंत्रण कक्ष भी स्थापित किया है। मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने शनिवार को कहा कि केंद्रीय परामर्श के अनुसार, सौराष्ट्र क्षेत्र के जिलों में घरों, सड़कों और विद्युत एवं संचार लाइनों के नुकसान का पूर्वानुमान जताया गया है।
आईएमडी ने शनिवार को कहा कि अरब सागर के ऊपर बना दबाव का क्षेत्र अब चक्रवाती तूफान ‘तौकते में तब्दील हो गया है और इसके 18 मई के आसपास पोरबंदर तथा नलिया के बीच गुजरात तट को पार करने की संभावना है। इस दौरान सौराष्ट्र और कच्छ के तटों के पास बेहद तेज बारिश के साथ ही 175 किलामीटर प्रतिघंटा तक की रफ्तार से हवाएं चल सकती हैं।
इस बीच, केंद्रीय गृह मंत्रालय ने परामर्श जारी कर गुजरात सरकार को परिस्थिति पर निरंतर निगरानी रखने और करीबी नजर बनाए रखने को कहा है। साथ ही उपयुक्त सावधानी उपाय करने का भी परामर्श दिया है। मंत्रालय ने यह भी कहा कि राज्य में मछली पकड़ने की गतिविधियों पर पूरी तरह रोका जाना चाहिए और प्रभावित इलाकों के लोगों को घरों में ही रहने को कहा जाना चाहिए।
आईएमडी द्वारा दोपहर 1:45 बजे जारी किए गए बुलेटिन में कहा गया, इसके (तौकते) अगले छह घंटे के दौरान ‘भीषण चक्रवाती तूफान में परिवर्तित होने की काफी संभावना है और फिर अगले 12 घंटे में इसके ‘अत्यंत भीषण चक्रवाती तूफान में बदलने की संभावना है। इसके उत्तर-उत्तर-पश्चिमी दिशा की तरफ बढ़ने और लगभग 18 मई को अपराह्न/शाम के समय पोरबंदर तथा नलिया के बीच गुजरात तट को पार करने की संभावना है।
मौसम विभाग ने अरब सागर से उठे चक्रवाती तूफान ‘तौकते के कारण अगले कुछ दिनों तक राजस्थान के अनेक इलाकों में तेज हवाएं चलने व हल्की से भारी बारिश होने की संभावना जताई है। मौसम केंद्र जयपुर के अनुसार राजस्थान में चक्रवाती तूफान ‘तौकते के असर से 16 मई से तेज अंधड़ के साथ बारिश होने लगेगी। विशेष रूप से उदयपुर, कोटा और जोधपुर संभाग के जिलों में रविवार को तेज अंधड़ व 40-50 किलोमीटर की रफ्तार से अचानक तेज हवाएं चलें और हल्की से मध्यम दर्जे की बारिश होने की संभावना है। फिलहाल तूफान के प्रति सावधान रहने की आवश्यकता है।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.