अमेरिकी और नाटो सैनिकों की अफगानिस्तान से वापसी का अंतिम चरण औपचारिक रूप से शुरू हुआ ।

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने अफगानिस्तान में बाकी बचे अपने सैनिकों की वापसी की औपचारिक शुरुआत एक मई से करने की घोषणा की थी। इस समय अफगानिस्तान में अमेरिका के 2,500 से 3000 सैनिक और नाटो के करीब सात हजार सैनिक मौजूद हैं।

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ): अफगानिस्तान में लंबे समय तक अमरीकी सेना की उपस्थिति बनी रही है। अफगानिस्तान से 20 साल के बाद अमेरिकी सैनिकों की वापसी का अंतिम चरण शनिवार को औपचारिक रूप से शुरू हुआ। योजना के तहत इस गर्मी के अंत तक अमेरिकी और नाटो सैनिकों की वापसी होनी है।
अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने अफगानिस्तान में बाकी बचे अपने सैनिकों की वापसी की औपचारिक शुरुआत एक मई से करने की घोषणा की थी। इस समय अफगानिस्तान में अमेरिका के 2,500 से 3000 सैनिक और नाटो के करीब सात हजार सैनिक मौजूद हैं।
हालांकि, शनिवार से पहले ही सैनिकों द्वारा अपने साजो-सामान को समेटने का काम शुरू हो गया था।
अमेरिकी सेना यह तय करने में व्यस्त थी कि कौन से सामान वापस लेने जाने हैं और कौन से अफगान सेना को देने हैं जबकि कबाड़ में क्या बेचना है। गत कुछ हफ्तों में अफगानिस्तान से भारी मालवाहक विमान सी-17 को उड़ान भरते हुए देखा गया था।
रक्षा मंत्रालय के अधिकारियों और राजनयिकों ने बताया कि वापसी के तहत पिछले साल छोटे ठिकानों को बंद किया जा रहा था। फिलहाल अमेरिका के अफगानिस्तान से जाने से दक्षिण एशियाई देशों में क्या प्रभाव पड़ेगा अब यह समय ही बताएगा।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.