मध्यप्रदेश -नरसिंहपुर : कोरोना वैक्सीन से लदा ट्रक मिला, 10 घंटे तक खड़ा रहा लावारिस।

एनएच-26 पर बस स्टैंड के पास ट्रक (टीएन06क्यू6482) शुक्रवार सुबह 8 बजे स्थानीय लोगों ने चालू हालत में देखा। लंबे समय तक ड्राइवर का कोई पता नहीं चला तो दोपहर 12.30 बजे नागरिकों ने पुलिस को सूचना दी।

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ): बेहद अजीबोगरीब मामले के तहत कोरोना वैक्सीन की खेप से लदे ट्रक के लावारिस मिलने की खबर है। 8 करोड़ रुपए की कोरोना वैक्सीन से लदा ट्रक 10 घंटे तक करेली के पास लावारिस खड़ा रहा। पुलिस व प्रशासन को इसकी जानकारी लगने के बाद हड़कंप की स्थिति निर्मित हो गई और ड्राइवर विवेक मिश्रा की तलाश शुरू हुई। जानकारी के अनुसार करेली के मध्य से गुजरे ओल्ड एनएच-26 पर बस स्टैंड के पास ट्रक (टीएन06क्यू6482) शुक्रवार सुबह 8 बजे स्थानीय लोगों ने चालू हालत में देखा।
लंबे समय तक ड्राइवर का कोई पता नहीं चला तो दोपहर 12.30 बजे नागरिकों ने पुलिस को सूचना दी। करेली पुलिस ने छानबीन शुरू की तो पता चला कि ट्रक से कोरोना की एंटी डॉट को-वैक्सीन ट्रांसपोर्ट हो रही थी। मौके पर तहसीलदार भी पहुंचे। इस संबंध में जिला टीकाकरण अधिकारी को सूचना भी दी। जानकारों का कहना है कि चूंकि ड्राइवर ट्रक को स्टार्ट रख गया था। इसलिए वैक्सीन की कोल्ड चेन मेंटेंन रही, जिससे उसके खराब होने की संभावना नहीं है।
एसआई आशीष बोपचे ने बताया, दस्तावेजों की जांच के बाद पता चला कि वैक्सीन हैदराबाद से करनाल जा रही थी। सम्बंधित कम्पनी से संपर्क करने पर पता चला कि ट्रक में सिर्फ ड्राइवर था, जिससे करीब 9 बजे से संपर्क नहीं हो रहा है और गाड़ी की जीपीआर लोकेशन भी एक ही जगह आने से कंपनी के अधिकारी भी सकते में थे। ट्रक ड्राइवर की मोबाइल लोकेशन करेली से करीब 16-17 किलोमीटर दूर एनएच-44 के किनारे नरसिंहपुर के नजदीक झाड़ियों में मिली, जहां पुलिस को चालू हालत में ड्राइवर का मोबाइल मिला, जिसमें तब तक 122 मिस्ड कॉल थे।
दस्तावेजों की तलाशी से पता चला कि ट्रक में 364 बॉक्स को-वैक्सीन लोड है। करीब 2 लाख 40 हजार डोज की जानकारी दस्तावेज में थी। ड्राइवर विवेक की जानकारी उसके परिजनों सहित कंपनी से भी ली है और कंपनी द्वारा दूसरे ड्राइवर को नागपुर से रवाना भी किया गया।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.