इजरायल के परमाणु रिएक्टर पर सीरिया ने किया मिसाइल से हमला, जवाब में इजरायल ने उड़ाए सीरिया के कई ठिकाने ।

रिपोर्ट के अनुसार, प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू के आदेश पर इजरायली सेना ने जवाबी कार्रवाई करते सीरिया के मिसाइल लॉन्चर सहित कई दूसरे ठिकानों को उड़ा दिया।

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ): इजरायल के परमाणु रिएक्टर पर सीरिया ने मिसाइल से हमला किया था। बताया जा रहा है कि यह मिसाइल गुरुवार सुबह इजराइल के नेगेव रेगिस्तान में गिरी। इसी इलाके में शिमोन पेरेज नेगेव न्यूक्लियर रिसर्च सेंटर है, जहां इजरायल ने अपना पहला परमाणु बम बनाया था। सीरियाई मिसाइल हमले के बाद इजरायल के इस शीर्ष गोपनीय परमाणु रिएक्टर के पास खतरे की सूचना वाले सायरन की आवाज सुनी गई। हमले की खबर मिलते ही इजरायली सेना ने जवाबी कार्रवाई का पूरा इंतजाम कर लिया था।
रिपोर्ट के अनुसार, प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू के आदेश पर इजरायली सेना ने जवाबी कार्रवाई करते सीरिया के मिसाइल लॉन्चर सहित कई दूसरे ठिकानों को उड़ा दिया। बताया जा रहा है कि यह बीते कई वर्षों में इजरायल और सीरिया के बीच सबसे भीषण संघर्ष बन गया है। माना जा रहा है कि इस घटना के पीछे सीरिया में सक्रिय ईरानी मिलिशिया का हाथ है।
कुछ दिनों पहले ईरान के नतांज परमाणु केंद्र में विस्फोट हुआ था, जिसे लेकर ईरान ने इजरायल को जिम्मेदार बताया था। ईरानी विदेश मंत्री ने खुलेआम इजरायल को धमकी देते हुए इसका बदला लेने की कसम खाई थी। इसलिए, विशेषज्ञों ने इस हमले के पीछे ईरान समर्थित मिलिशिया का हाथ होने का दावा किया है। उनका कहना है कि कुछ ही दिनों में सीरिया में राष्ट्रपति चुनाव होने वाला है, ऐसे में वह इजरायल जैसे शक्तिशाली देश के खिलाफ कोई ऐसी हरकत करने के पहले 100 बार सोचेगा।
दुनिया में हथियारों की स्थिति और वैश्विक सुरक्षा का विश्लेषण करने वाले स्वीडन की संस्था स्टॉकहोम इंटरनेशनल पीस रिसर्च इंस्टीट्यूट ने 2020 की अपनी नई सालाना रिपोर्ट में यह दावा किया है कि इजरायल के पास 80 से 90 परमाणु बम हैं। दरअसल, इजरायल को डर है कि उसका सबसे बड़ा दुश्मन ईरान कहीं परमाणु हथियारों को विकसित न कर लगे।
इजरायली पीएम नेतन्याहू कई बार कह चुके हैं कि मध्य पूर्व में ईरान से अधिक और कोई गंभीर खतरा नहीं है। ईरान ने परमाणु हथियार रखने की अपनी इच्छा नहीं छोड़ी है और इजरायल के विनाश के लिए बार-बार धमकी दे रहा है। इजरायल के प्रधानमंत्री के रूप में, मैं कभी भी ईरान को नरसंहार करने के लिए परमाणु हथियार प्राप्त करने की अनुमति नहीं दूंगा।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.