महाराष्ट्र- नासिक : ऑक्सीजन टैंकर हुआ लीक, सप्लाई रुकने से 22 लोगों की हुई मौत ।

महाराष्ट्र के नासिक में डॉ. जाकिर हुसैन अस्पताल के बाहर ऑक्सीजन टैंकर लीक होने से 22 लोगों ने दम तोड़ दिया।

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ): देश में कोरोना के चलते हाहाकार है और मरीजों को आक्सीजन की सख्त आवश्यकता है। देश में कोरोना वायरस महामारी की वजह से उपजे ऑक्सीजन संकट के बीच बुरी तरह प्रभावित राज्य महाराष्ट्र से एक बेहद दर्दनाक खबर मिली है। महाराष्ट्र के नासिक में डॉ. जाकिर हुसैन अस्पताल के बाहर ऑक्सीजन टैंकर लीक होने से 22 लोगों ने दम तोड़ दिया। लीकेज के कारण अस्पताल में 30 मिनट तक ऑक्सीजन सप्लाई बाधित रही। इसके कारण वेंटिलेटर पर रखे गए 22 मरीजों की मौत हो गई। खबरों के मुताबिक, अभी कई लोगों की हालत गंभीर बनी हुई है। महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा कि संभवतः ऑक्सीजन सप्लाई में आई रुकावट की वजह से इन मरीजों की मौत हुई है।
महाराष्ट्र के एक अन्य मंत्री डॉक्टर राजेंद्र शिंगणे ने हादसे को लेकर कहा, ‘यह दुर्भाग्यपूर्ण है। शुरुआती जानकारी के मुताबिक हमें 11 लोगों की मौत के बारे में पता लगा है। हम विस्तृत रिपोर्ट पाने की कोशिश कर रहे हैं। हमने जांच के भी आदेश दे दिए हैं। हादसे के लिए जो भी जिम्मेदार होगा उन्हें बख्शा नहीं जाएगा।’
महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने बताय, ‘टैंकर के वॉल्व्स में खराबी के चलते इतनी बड़ी मात्रा में ऑक्सीजन का रिसाव हुआ। यह निश्चित है कि अस्पताल पर इसका असर जरूर हुआ होगा लेकिन हमें अभी और जानकारी हासिल करनी है। पूरी जानकारी मिलने के बाद हम प्रेस नोट जारी करेंगे।’
पीएम मोदी जताया दुख
पीएम मोदी ने ट्वीट किया, ”ऑक्सीजन टैंक लीकेज की वजह से नासिक के अस्पताल में हुआ हादसा दिल दहलाने वाला है। इसकी वजह से लोगों की मौत से दुखी हूं। दुख की इस घड़ी में पीड़ित परिवारों के साथ संवेदनाएं।’

महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने भी हादसे पर दुख जताते हुए कहा, ”नासिक के जाकिर हुसैन अस्पताल में ऑक्सीजन टैंकर लीक होने से कोविड मरीजों की मौत से बहुत दुखी हूं। मृतकों के परिवारों के प्रति मेरी संवेदनाएं हैं और प्रभावितों के जल्द ठीक होने की कामना करता हूं।”
नासिक के डिविजनल कमिश्नर राधाकृष्ण गामे ने कहा, ”यह दुर्भाग्यपूर्ण घटना सुबह 10 बजे हुई, जब ऑक्सीजन टैंक में खराबी आ गई। अस्पताल प्रशासन ने कुछ मरीजों को शिफ्ट किया, फिर भी ऑक्सीजन प्रेशर कम होने की वजह से 22 मरीजों की मौत हो गई। घटना के बाद मरीजों के रिश्तेदार वार्ड में घुस गए और हंगामा करने लगे। इससे स्थिति को बहाल करने में समय लगा।”
बता दें कि महाराष्ट्र देशभर में कोरोना की सबसे बुरी मार झेल रहा है। यहां हर दिन कोरोना वायरस के 50 हजार से ज्यादा नए संक्रमित मिल रहे हैं तो वहीं सैकड़ों लोगों की जान भी जा रही है। फिलहाल सरकार हर प्रकार की स्थिति से निपटने के लिए सभी आवश्यक कदम सख्ती से उठाया रही है।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.