गोरखा समस्या हल हो जाएगी अगर बंगाल में जीती भाजपा – अमित शाह

अमित शाह ने कहा, 'मैं वादा करता हूं कि भाजपा की डबल इंजन की सरकार, एक केंद्र में और दूसरी बंगाल में, गोरखा समस्या का स्थायी राजनीतिक समाधान निकाल लेगी।

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ): बंगाल में चुनाव का माहौल गरम है। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने पश्चिम बंगाल में भाजपा के सत्ता में आने पर लंबे समय से चली आ रही ‘गोरखा समस्या’ का राजनीतिक समाधान ढूंढने का मंगलवार को आश्वासन दिया। अमित शाह ने यहां जनसभा के दौरान कहा कि देश का संविधान विस्तृत है और इसमें सभी समस्याओं के हल का प्रावधान है।
अमित शाह ने कहा, ‘मैं वादा करता हूं कि भाजपा की डबल इंजन की सरकार, एक केंद्र में और दूसरी बंगाल में, गोरखा समस्या का स्थायी राजनीतिक समाधान निकाल लेगी। आपको अब प्रदर्शनों का सहारा नहीं लेना पड़ेगा।’ हालांकि, उन्होंने यह स्पष्ट नहीं किया कि वह किस समस्या की बात कर रहे हैं।
उन्होंने कहा, ‘अभी के लिए राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) लागू करने की कोई योजना नहीं है। अगर ऐसा होता भी है तो गोरखा समुदाय को इसकी चिंता करने की जरूरत नहीं है।’ शाह ने सत्ताधारी आरोप लगाते हुए कहा कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने दार्जिलिंग में विकास कार्य पर ‘पूर्ण विराम’ लगा दिया है। 
शाह ने कहा कि यह वह स्थान है जहां सत्तारूढ़ टीएमसी के नेता फुर्सत में आते हैं। शीर्ष भाजपा नेता ने दावा किया कि टीएमसी की मुखिया ममता बनर्जी ने ‘कुछ’ गोरखाओं के खिलाफ आपराधिक मामला चलवाकर भाजपा और गोरखा समुदाय के बीच सौहार्दपूर्ण संबंधों को खराब करने की कोशिश की।
अमित शाह ने किसी का नाम लिए बिना कहा, ‘दीदी ने कई की हत्या करवाई और कई के खिलाफ मामले चलवाए। भाजपा सत्ता में आने के बाद, ऐसे लोगों के अपराध क्षमा करेगी।’ बनर्जी हाल के दिनों में कई बार दार्जिलिंग आई थीं लेकिन उन्होंने क्षेत्र की तीन विधानसभा सीटों के लिए कोई प्रचार नहीं किया। 
भाजपा के पूर्व सहयोगी, जीजेएम नेता बिमल गुरुंग 2017 में हिंसक आंदोलन का कथित तौर पर नेतृत्व करने के बाद उनके खिलाफ लगाए गए कई आपराधिक आरोपों के बाद बहुत दिन तक छिपे रहे थे। पिछले साल अक्तूबर में सामने आने के बाद उन्होंने तृणमूल कांग्रेस के साथ हाथ मिला लिया था।
राज्य प्रशासन ने इनमें से कुछ मामलों को वापस लेने के लिए अब अदालत का रुख किया है। बता दें कि बंगाल में इस बार आठ चरणों में विधानसभा चुनाव हो रहे हैं। इनमें से चार चरणों के लिए मतदान हो चुका है। क्षेत्र में 17 अप्रैल को मतदान होगा। मतगणा दो मई को होगी और उसी दिन परिणाम आएगा। फिलहाल अमित शाह ने गोरखा समस्या के हल की घोषणा तो कर दी है किन्तु उनके कदम क्या होंगे यह तो चुआव परिणाम आने के बाद ही पता चलेगा।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.