फिल्म निर्देशक अनुराग कश्यप से रेप केस पर मुंबई पुलिस ने 8 घंटे की पूछताछ।

कश्यप पर भारतीय दंड संहिता (IPC) की धारा 376 (I) (बलात्कार), 354 (महिला को अपमानित करने के इरादे से हमला करना या आपराधिक बल देना), 341 (गलत संयम) और 342 (गलत तरीके से प्रताड़ना) के तहत आरोप लगाया गया है।

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ) : फिल्म निर्माता निर्देशक अनुराग कश्यप पर लगे रेप केस पर वर्सोवा में मुंबई पुलिस ने 8 घंटे पूछताछ की। अनुराग पर 30 साल की एक्ट्रेस ने यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया गया है और एक्ट्रेस से मंगलवार को जांच में शामिल होने के लिए कहा गया। 22 सितंबर को पुलिस ने अनुराग कश्यप के खिलाफ यौन शोषण के आरोप में एक एफआईआर दर्ज की थी। एक्ट्रेस ने बताया था कि ये सब उनके साथ तब हुआ जब उन्होंने अनुराग से काम के लिए संपर्क किया।
कश्यप पर भारतीय दंड संहिता (IPC) की धारा 376 (I) (बलात्कार), 354 (महिला को अपमानित करने के इरादे से हमला करना या आपराधिक बल देना), 341 (गलत संयम) और 342 (गलत तरीके से प्रताड़ना) के तहत आरोप लगाया गया है। अनुराग इन आरोपों से इनकार किया है। गुरुवार को कश्यप अपने वकील के साथ लगभग 10 बजे वर्सोवा पुलिस स्टेशन पहुंचे और शाम 6 बजे वहां से रवाना हुए।
पुलिस उपायुक्त (जोन -9) अभिषेक त्रिमुखे ने कहा, “हमने उनका बयान दर्ज कर लिया है और मामले की पूरी जांच कर रहे हैं।” शिकायतकर्ता को मेडिकल जांच के लिए कूपर अस्पताल ले जाया गया है। अपनी शिकायत में एक्ट्रेस ने आरोप लगाया है अगस्त 2013 में अनुराग कश्यप ने अपनी आने वाली फिल्म मे एक भूमिको पर चर्चा करने के लिए उन्हें घर बुलाया था और जब वो उनके घर पर थी अनुराग ने उनका यौन शोषण किया था।
शिकायतकर्ता ने कहा कि वह घर से भागने में सफल रही। इसके बाद अपने ड्राइवर ओमप्रकाश और अपने मैनेजर राकेश कुमार को अपनी आपबीती सुनाई। एक्ट्रेस ने यह भी कहा कि उन्होंने दो साल पहले इस घटना को सोशल मीडिया पर पोस्ट किया था, जब #MeToo आंदोलन द्वारा कार्यस्थलों पर यौन उत्पीड़न के बारे में बातचीत को प्रोत्साहित किया गया था, लेकिन उन्होंने फिल्म उद्योग में अपने परिवार और दोस्तों की सलाह पर इस पोस्ट को हटा दिया। कश्यप पर ना हो रही कार्यवाई पर राजनीतिक परिदृश्य गरम होने लगा था।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.