रामायण-महाभारत को अफीम का नशा कहने पर प्रशांत भूषण समेत तीन पर एफआईआर दर्ज।

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ) : ओम तिवारी : हिन्दुओं के पवित्र धार्मिक ग्रन्थ रामायण महाभारत को अफीम का नशा कह कर हिन्दुओं की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने के आरोप में सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। उन्होंने ट्वीट कर हिन्दू धर्म ग्रंथ को अफीम का नशा बताया है। प्रशांत भूषण के साथ अश्लीन मेथ्यू और कन्नन गोपीनाथन के खिलाफ भी मामला गुजरात के राजकोट के भाक्तिनगर पुलिस थाने में मामला दर्ज किया गया हैं। जिसके बाद इन तीनों के खिलाफ भक्तिनगर पुलिस ने जाँच शुरू कर दी हैं। इंडियन आर्मी से रिटायर्ड कैप्टन जयदेव जोषी (40) ने ही इन तीनों के खिलाफ शिकायत दर्ज करवायी हैं। जिसके बाद पुलिस IPC की धारा 295 (ए), 505 (1) (बी), 34 एवं 120 (बी) के तहत मामला दर्ज कर, जनक शुरू कर दी है।मामला दर्ज करवाने के बादजयदेव जोषी ने बताया कि प्रशांत भूषण ने 28 मार्च को अपने ट्वीटर आकउंट से रामायण और महाभारत में अफीम शब्द का उपयोग किया है। इससे मेरी और करोड़ो हिन्दुओं की धार्मिक भावनाएं आहत हुई हैं। दर्ज शिकायत में कहा गया है कि देश के कोर्ट में गवाहों को गवाही देने से पूर्व हिंदू धर्म ग्रंथ महाभारत, रामायण का शपथ दिलायी जाती हैं।प्रशांत द्वारा किए गए इस प्रकार के ट्वीट से धार्मिक भावनाएं कमजोर पड़ती हैं। महाभारत श्रीमद् गीता से निकला है। इसलिए किसी को भी धार्मिक ग्रंथ रामायण, महाभारत पर सवाल का उठाने का अधिकार नहीं है। शिकायत में अश्लीन मेथ्यू और कन्नन गोपीनाथन का भी जिक्र करते हुए कहा गया है कि इन लोगों ने इसका तोड़ मरोड़कर भ्रामक अर्थ निकाला हैं। प्रशांत  भूषण सहित आरोपियों के ये बयान शान्ति भंग कर सकते हैं।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.