Coronavirus: केरल से सामने आए कोरोना वायरस के 5 नए मामले, पीड़ितों की संख्या 39 हुई

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ) : केरल में कोरोना वायरस के पांच नए मामले सामने आए हैं। इसी के साथ देश में कोरोना वायरस के पॉजिटिव मामलों की संख्या 39 हो गई है। राज्य की हेल्थ मिनिस्टर केके शैलजा ने कहा कि “यहां के आइसोलेशन वॉर्ड में कोरोना वायरस के पांच नए केस आए हैं। इसमें से तीन लोग हाल ही में इटली से लौटे थे, जिनके कारण पत्तनंतिट्टा में दो और लोगों में वायरस फैल गया।” केरल में एक ही परिवार के तीन सदस्यों और उनके दो रिश्तेदारों समेत पांच लोगों में कोरोना वायरस (कोविड-19) से संक्रमण की पुष्टि होने के बाद राज्य सरकार ने रविवार को हाई अलर्ट जारी कर दिया। इटली से लौटे एक व्यक्ति, उसकी पत्नी और उसके बेटे के इस खतरनाक बीमारी से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। इसके अलावा जानलेवा बीमारी की चपेट में आने वाले दो अन्य लोग इन तीनों के करीबी रिश्तेदार हैं। पांचों को यहां जनरल अस्पताल के विशेष वार्ड में भर्ती कर इलाज किया जा रहा है। इस बीच राज्य की स्वास्थ्य मंत्री ने कोरोना वायरस को लेकर पूरे राज्य में हाई अलर्ट जारी किया है। उन्होंने संक्रमण से प्रभावित तीनों लोगों के साथ कतर एयरवेज के विमान यात्रियों को स्वास्थ्य अधिकारियों से संपर्क करने को कहा है। शैलजा ने कहा कि प्रभावित परिवार ने हवाई अड्डे पर जांच के दौरान अपनी यात्रा के बारे में कोई चर्चा नहीं की इसलिए उनकी गहन जांच नहीं की जा सकी। उन्होंने बताया कि स्वास्थ्य अधिकारियों की ओर से चौकस किए जाने के बाद भी यह परिवार अस्पताल में अपनी चिकित्सा जांच कराने को तैयार नहीं था। बता दें कि चीन के वुहान शहर से निकलकर कोरोना वायरस अब दुनिया के 90 से ज्यादा देशों मे फैल चुका है। चीन के बाद इटली- दूसरा, ईरान- तीसरा और साउथ कोरिया- चौथा सबसे ज्यादा प्रभावित देश है। भारत में भी इसके केस धीरे-धीरे बढ़ रहे हैं। भारत में कोरोना वायरस के अब तक 39 पॉजिटिव केस सामने आए हैं, जिसमें से तीन ठीक हो गए हैं जबकि 36 अभी एक्टिव हैं। कोरोना वायरस का मोर्टेलिटी रेट दूसरे कई वायरसों के मुकाबले कम है लेकिन यह तेजी से फैलता है। वर्ल्ड हेल्थ आर्गेनाईजेशन (WHO) के मुताबिक, 3 मार्च 2020 तक कोरोना वायरस का मोर्टेलिटी रेट 3.4% था। वहीं, शुरुआत में इसका मोर्टेलिटी रेट 2 फीसदी दर्ज किया गया था। मोर्टेलिटी रेट बताता है कि एक समय में कुल लोगों में से कितने लोगों की मौत हुई। इसे कभी-कभी डेथ रेट भी कहा जाता है। 2012 में MERS कोरोना वायरस सामने आया था। इसकी सबसे पहले सउदी अरब में पहचान हुई थी। बाद में यह वायरस 27 देशों में फैल गया था। WHO के मुताबिक, इसका मोर्टेलिटी रेट करीब 35% था यानि अभी के कोरोना वायरस से करीब 11 फीसदी ज्यादा। वहीं, 2002-2003 में SARS कोरोना वायरस सामने आया था, जो बाद में 26 देशों में फैला। इसका मोर्टेलिटी रेट करीब 10 फीसदी था यानि आज के कोरोना वायरस से करीब 3 गुना ज्यादा।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.