आईएस दुल्हन पछतावा जताकर चाहती है अमेरिका में वतन वापसी।

सरकार ने 24 वर्षीय होदा मुथाना को जगह देने से इनकार करते हुए कहा है कि वह अब अमेरिकी नागरिक नहीं है।

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ) : सपनों की दुनिया के चाह में दुनियाभर से मुस्लिम युवक-युवतियां आईएस में शामिल होने जाते हैं। अमेरिका से भागकर सीरिया में इस्लामिक स्टेट के एक लड़ाके से शादी करने वाली अलबामा की एक महिला ने दोबारा लौटने की गुहार लगाई है। उसका कहना है कि उसे अपने किए का पछतावा है। उसका एक छोटा बेटा भी है, जिसके साथ वह सीरिया के शरणार्थी शिविर में गुजारा कर रही है और अब वतन वापसी चाहती है। लेकिन सरकार ने 24 वर्षीय होदा मुथाना को जगह देने से इनकार करते हुए कहा है कि वह अब अमेरिकी नागरिक नहीं है। एनबीसी न्यूज को दिए गए एक साक्षात्कार में मुथाना ने कहा है कि उन्हें साल 2014 में अपना देश छोड़कर चरमपंथी विचारधारा अपनाने का पछतावा है। मुथाना ने कहा, ‘कोई भी व्यक्ति जो ईश्वर में विश्वास करता है, वह मानता है कि हर कोई अपने आपको सुधारने का दूसरा मौका चाहता है। उसे मिलना भी चाहिए। भले ही उसके अपराध कितने भी जघन्य क्यों न हों। मुथाना ने कहा कि उसे अपनी जान का डर सता रहा है। गौरतलब है कि महिला अपने 18 महीने के बेटे के साथ वापस अमेरिका लौटना चाहती थी, लेकिन राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने उसे ऐसा करने की अनुमति देने से साफ इनकार कर दिया था।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.