मिलिए ओडिशा का ‘दशरथ मांझी’ से : बच्चों को स्कूल भेजने के लिए पहाड़ काटकर सड़क बनाई

(न्यूज़ लाइव नाऊ) : बिहार के दशरथ मांझी याद होंगे आपको. केवल एक हथौड़ा और छेनी लेकर इन्होंने अकेले ही 360 फुट लंबी 30 फुट चौड़ी और 25 फुट ऊंचे पहाड़ को काट के एक सड़क बना डाली थी. माउंटेन मैन के रूप में जाने जाने वाले दशरथ मांझी बिहार में गया के करीब गहलौर गांव के एक गरीब मजदूर थे. अब ओडिशा में जालंधर नायक नामक एक शख्स ने पहाड़ को काटकर सड़क बना दी ताकि उनके बच्चे स्कूल जा सकें. यह मामला अपने आप में भले ही हैरान करने वाला हो लेकिन एक पिता के ऐसा करना महती जरूरत और अपने बच्चों के लिए अथाह प्रेम रहा होगी, तभी उन्होंने इस बड़े काम को अंजाम दिया.



ओडिशा के गुमसाही गांव का यह मामला है. कंधमाल के रहने वाले जालंधर नायक ने गुमसाही गांव से लेकर फुलबानी शहर के बीच पड़ने वाले एक विशाल पहाड़ को काटकर 8 किलोमीटर लंबी सड़क बना दी. न्यूज एंजेसी एएनआई से मिली इस जानकारी के मुताबिक, जालंधर ने ऐसा इसलिए किया ताकि उनके बच्चे बिना किसी दिक्कत के स्कूल जा सकें.

इसी बीच दशरथ मांझी के बारे में बता दें कि वह एक बेहद पिछड़े इलाके से आते थे और दलित जाति से थे.





दशकों की मेनहत के बाद बाद दशरथ मांझी ने अतरी और वजीरगंज ब्लाक की दूरी को 55 किमी से 15 किलोमीटर कर दिया था इस सड़क के माध्यम से.

Leave A Reply

Your email address will not be published.