दिल्‍ली के मंगोलपुरी इलाके में हुई वारदात, एक व्‍यक्ति की चाकू मारकर हत्‍या!

मृतक अरमान के पिता का दावा, गणेश विसर्जन में तिलक लगाने के चलते मारा गया।

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ): दिल्ली के मंगोलपुरी इलाके में दो हमलों में एक व्यक्ति की चाकू घोंपकर हत्या का मामला सामने आया है। पुलिस के मुताबिक, वारदात में अरमान नाम के युवक की मौत हो गई और अन्य चार युवक घायल हो गए। शुक्रवार शाम करीब चार बजे ये  घटना हुई। पुलिस ने कहा कि पीड़ितों की पहचान अरमान, मोंटी उर्फ मोइन खान और फरदीन के रूप में हुई है और उन्हें पास के संजय गांधी मेमोरियल अस्पताल ले जाया गया। डॉक्टरों ने अरमान को मृत घोषित कर दिया है. फरदीन को मामूली चोटें आई हैं। अरमान के पिता का दावा है कि उनके बेटे को गणेश विसर्जन में जाने की वजह से मारा गणेश विसर्जन में उनको हमलावरों ने पूछा था कि ‘तुम किस बात के मुसलमान हो जो गुलाल लगा रखा है।’ इस वजह से तूतू-मैंमैं हुई।। जिन्‍होंने मारा है, उनके यहां 10-12 चाकूबाज लड़के चौबीसों घंटै रहते हैं। वो नीचे उतर के आए और चाकू से गोद दिए।

पुलिस ने बताया कि बाइक टच होने के बाद विवाद शुरू हुआ था। हमले में घायल फरदीन ने कहा कि वह अपनी बाइक से शाहरुख के घर के सामने से जा रहा था। इसी दौरान शाहबीर के साथ बाइक को छूने पर विवाद हो गया था। इसके बाद फरदीन वहां से चला गया। फरदीन के भाई मोंटी ने इस मामले को सुलझाने का फैसला किया। इसी दौरान भाई की शाहरुख के साथ तीखी बहस हो गई। फरदीन ने बताया कि शाहरुख ने मोंटी को गाली दी थी फिर उनका चचेरा भाई अरमान भी वहां पहुंच गया। तब शाहरुख और शाहबीर ने अपने साथियों को चाकू लाने के लिए कहा। इसके बाद शाहरुख ने अरमान को पकड़ा और शब्बीर जो कि शाहरुख का भाई है उसने मोंटी को पकड़ा लिया। शेख समीर और विनीत ने अरमान और समीर को चाकू मार दिया।

इस मामले में पुलिस ने 3 आरोपियों शाहरुख, समीर और विनीत को पकड़ लिया है। पुलिस का कहना है कि मामले की जांच की जा रही ह। एक को को गंभीर चोटें आई हैं, जबकि एक  को प्रारंभिक उपचार के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। एक अधिकारी ने बताया कि मंगोलपुरी थाने में आरोपियों के खिलाफ हत्या और हत्या के प्रयास के दो मामले दर्ज किए गए हैं।

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.