दिल्ली में वायु प्रदूषण को रोकने के लिए आज से सख्त पाबंदियां

(एन एल एन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ) : शनिवार तक बेहद खराब हो जाएगी दिल्ली की हवा पूर्वानुमान के अनुसार, 20 और 21 अक्टूबर को वायु प्रदूषण खराब स्थिति में रहेगा और 22 अक्टूबर को यह बेहद खराब स्तर पर पहुंच सकता है । इसके बाद अगले छह दिनों तक यह बेहद खराब स्थिति में ही रहेगा । 20 अक्टूबर को हवाएं 5 से 8 किलोमीटर प्रति घंटे रहेगी । 22 अक्टूबर को उत्तर और उत्तर पूर्वी दिशाओं से हवाएं आएंगी । बढ़ते वायु प्रदूषण को देखते हुए सीएक्यूएम (कमिशन फॉर एयर क्वॉलिटी मैनेजमेंट) ने ग्रैप (ग्रेडेड रिस्पांस एक्शन प्लान) के दूसरे चरण को आज से लागू कर दिया है ।
डीजल जेनरेटर सिर्फ इन जगहों पर चलेंगे

– मेडिकल सर्विसेज, इनमें अस्पताल, नर्सिंग होम, हेल्थ केयर सुविधाएं शामिल हैं । इसके अलावा लाइफ सेविंग उपकरण, दवाएं बनाने में डीजल जनरेटर का इस्तेमाल किया जा सकता है ।
– एलिवेटर, एस्केलेटर, ट्रैवलेटर आदि में
– रेलवे सर्विस और रेलवे स्टेशन
– मेट्रो रेल सर्विस और मेट्रो स्टेशन
– एयरपोर्ट और आईएसबीटी
– सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट
– वॉटर पंपिंग स्टेशन
– राष्ट्रीय सुरक्षा/डिफेंस से जुड़ी गतिविधियों में
– राष्ट्रीय महत्व के प्रोजेक्ट
– टेलिकम्युनिकेशन और डेटा सर्विस

राजधानी में पटाखों के निर्माण, भंडारण, बिक्री (ऑनलाइन मार्केटिंग प्लेटफॉर्म के माध्यम से डिलीवरी सहित) और पटाखों को जलाने पर पूर्ण प्रतिबंध लगाया गया है । प्रतिबंध को लागू करवाने के लिए 408 टीमों का गठन किया गया है ।

ये पाबंदियां लगी रहेंगी

– होटल, रेस्टोरेंट, भोजनालय आदि में तंदूर में लकड़ी और कोयले का इस्तेमाल नहीं करना होगा ।
– इमरजेंसी सेवाओं को छोड़कर डीजल जनरेटर के इस्तेमाल पर रोक ।
– ट्रैफिक जाम वाली सड़कों पर ट्रैफिक कर्मियों को लगाया जाएगा ।
– निजी गाड़ियों के इस्तेमाल को कम करने के लिए पार्किंग फीस बढ़ेगी ।
– आरडब्ल्यूए अपने सिक्योरिटी गार्ड को हीटर उपलब्ध करवाएंगी ।
– निजी गाड़ियों का कम से कम इस्तेमाल करें और पब्लिक ट्रांसपोर्ट में चलें ।
– अपनी गाड़ियों के एयर फिल्टर समय-समय पर बदलें ।
– धूल आदि से जुड़े निर्माण कार्य न करें ।

Leave A Reply

Your email address will not be published.