ज्ञानवापी: शिवलिंग,की करबॉन डेटिंग की मांग को वाराणसी कोर्ट ने किया खरीज,हिन्दू पक्ष जाएगा सुप्रीम कोर्ट।

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ):वाराणसी के ज्ञानवापी मस्जिद मे मिले शिवलिंग की कार्बन डेटिंग की मांग को वाराणसी कोर्ट ने खारिज कर दिया है।  हिंदू पक्ष ने शिवलिंग की कार्बन डेटिंग की मांग की थी जिसे जिला जज अजय कृष्ण विश्वेश की अदालत ने खारिज कर दिया है। कथित शिवलिंग की कार्बन डेटिंग और वैज्ञानिक परीक्षण के मामले में बहस पूरी होने के बाद ये फैसला सुनाया गया। मामले की अगली सुनवाई 17 अक्तूबर की जाएगी।

कोर्ट के इस फैसले को हिंदू पक्ष के लिए बड़ा झटका माना जा रहा है। हिंदू पक्ष के अधिवक्ताओंने कहा  है कि जिला जज के फैसले को वो हाईकोर्ट में चुनौती देंगे।  शिवलिंग की आकृति की कार्बन डेटिंग कराने के आवेदन पर जिला जज डॉ अजय कृष्ण विश्वेश की अदालत में 12 अक्तूबर को सुनवाई हुई थी। सुनवाई के बाद आदेश के लिए 14 अक्तूबर यानि आज की तिथि तय की गई थी।

 

प्रतिउत्तर में हिदू पक्ष के अधिवक्ता हरिशंकर जैन,विष्णु जैन,सुभाष नन्दन चतुर्वेदी व सुधीर त्रिपाठी ने दलील में कहा कि वाद में दृश्य व अदृश्य देवता की बात कही गई है सर्वे के दौरान वजू स्थल स्थित हौज से पानी हटाने पर अदृश्य आकृति दृश्य रूप में दिखी ऐसे में यह पार्ट ऑफ शूट है यानि दावे का हिस्सा है,बरामद आकृति शिवलिंग है या फव्वारा यह वैज्ञानिक जांच से ही स्पष्ट होगा। ऐसे में आकृति को बिना नुकसान पहुंचाए ,हिदुओं की आस्था को चोट पहुंचाए बगैर वैज्ञानिक जांच भारतीय पुरातात्विक सर्वेक्षण के विशेषज्ञ टीम से कराई जाए ताकि यह पता चल सके कि आकृति शिवलिंग है या फव्वारा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.