PMLA कोर्ट ने फैसला रखा सुरक्षित, संजय राउत की न्यायिक हिरासत 14 दिनों के लिए बढ़ी,

(एन एल एन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ) : Sanjay Raut Money Laundering Case: चॉल घोटाला और मनी लॉन्ड्रिंग मामले में जेल में बंद शिवसेना नेता संजय राउत की जमानत याचिका पर फैसला कोर्ट ने सुरक्षित रख लिया है । कोर्ट अब 9 नवंबर को फैसला सुनाएगा । 02 नवंबर 2022 को भी राहत नहीं मिली । वो मुंबई की पत्रा चॉल घोटाले के मामले में जेल में बंद हैं । मुंबई की पीएमएलए कोर्ट ने उनकी न्यायिक हिरासत को 14 दिनों के लिए बढ़ा दिया है । हालांकि, कोर्ट ने उनकी जमानत याचिका पर फैसला सुरक्षित रख लिया है और 9 नवंबर को फैसला सुनाया जाएगा । संजय राउत आज कोर्ट पहुंचे जहां पर उनकी जमानत याचिका पर ईडी की तरफ से जिरह पूरी हो जाएगी । इसके बाद कोर्ट अपना आदेश दे सकता है ।

21 अक्टूबर को उनकी जमानत याचिका पर कोर्ट ने सुनवाई स्थगित कर दी थी । उस समय भी संजय राउत की न्यायिक हिरासत बढ़ा दी गई थी । ईडी ने इस मामले में एक पूरक आरोपपत्र दाखिल किया था । विशेष न्यायाधीश एमजी देशपांडे ने अभियोजन की शिकायत पर संज्ञान लेते हुए शिवसेना सांसद के सहयोगी प्रवीण राउत समेत मामले के सभी आरोपियों को समन जारी किया था । उनके वकील ने कहा था कि वह आरोपपत्र का अध्ययन करना चाहते हैं और अपनी याचिका में अतिरिक्त आधार जोड़ने का फैसला करना चाहते हैं । प्रवर्तन निदेशालय ने मुंबई के गोरेगांव इलाके में पात्रा चॉल के पुनर्विकास में वित्तीय अनियमितता के संबंध में राउत को एक अगस्त को गिरफ्तार किया था । अब राउत की रिमाण्‍ड और जमानत दोनों को एक साथ मर्ज कर दिया गया है । इसमें संजय राउत को मामले में आरोपी बनाया गया था । कोर्ट ने पूरक आरोपपत्र पर संज्ञान लिया । इसमें राउत का नाम मनी लॉड्रिंग के एक मामले में आरोपी के रूप में लिया गया है । राउत ने जमानत के लिए धनशोधन निवारण अधिनियम (PMLA) मामलों की विशेष अदालत का रुख किया था ।

Leave A Reply

Your email address will not be published.