बागेश्वर धाम सरकार ने सनातन का लहराया परचम, कहा सनातन को अगर अंधविश्वास बताओगे तो बर्दास्त नहीं किये जाओगे , Live Demo के बाद सब रह गए हक्के-बक्के

पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री (बागेश्वर धाम सरकार) ने अपनी दिव्य शक्तियों का लाइव प्रदर्शन रायपुर में किया है। पत्रकारों के सामने ने बाबा ने अपने चमत्कार का डेमो दिया है। जिसके बाद सवाल उठाने वाले लोग निशब्द रह गए।

(एन एल एन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ): मध्य प्रदेश के छतरपुर में बागेश्वर धाम है। इसके पीठाधीश्वर धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री को जनता बागेश्वर वाले बाबा, बागेश्वर धाम सरकार बागेश्वर महाराज, जैसे नाम से जानती है। नके बारे में दावा है कि ये लोगों की मन की बात बिना कुछ कहे जान जाते हैं। ये इन दिनों विवादों में घिरे हुए हैं। बागेश्वर महाराज पर अंध विश्वास फैलाने के आरोप लगे हैं। इन आरोपों पर धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री ने जवाब दिया है। बागेश्वर धाम सरकार ने महाराष्ट्र की अखिल भारतीय अंधश्रद्धा निर्मूलन समिति की ओर से लगाए गए अंधविश्वास फैलाने आरोपों और दी गई चुनौती पर छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में आरोप लगाने वालों की चुनौती स्वीकार की है। उन्होंने अखिल भारतीय अंधश्रद्धा निर्मूलन समिति के उपाध्यक्ष श्याम मानव और उनके लोगों को रायपुर बुलाया है और कहा है कि यहां तक आने का टिकट भी वह खुद देंगे. लेकिन समिति के उपाध्यक्ष श्याम मानव को यह स्वीकार नहीं है। उनका कहना है कि यह चैलेंज सिर्फ नागपुर में 10 लोगों के बीच पूरा होगा। बागेश्वर धाम सरकार ने पत्रकारों के सामने अपने चमत्कार का डेमो दिया है। और साथ ही कहा कि आज के बाद मैं कोई सफाई नहीं दूंगा।

बागेश्वर धाम सरकर जागेश्वर धाम पीठाधीश्वर श्री धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री को जनता बागेश्वर वाले बाबा या बागेश्वर धाम सरकार के नाम से संबोधित करती है इसके इनके बारे में यह दावा है कि यह लोगों को बिना कुछ लोगों के बिना कुछ बताए ही उनके मन की बात जान लेते हैं इन विवादों के चलते यह कुछ दिन से सुर्खियों में थे बागेश्वर धाम महाराज पर अंधविश्वास फैलाने के आरोप भी लगे हैं इन आरोपों का खंडन करते हुए बिरेंद्र कृष्ण शास्त्री ने जवाब दिया उन्होंने सभी पत्रकारों के सामने लाइव डेमो दिखाते हुए कहा

पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री की पर्ची पर सवाल थे। कुछ लोग कह रहे थे कि बाबा पर्ची में जो बात लिखते हैं, वह पहले से होती है। बागेश्वर महाराज ने रायपुर में लाइव डेमो दिया है। देश भर से पहुंचे पत्रकारों से धीरेंद्र शास्त्री ने कहा कि आपमें से कोई एक सामने आ जाओ। इसके बाद एक महिला पत्रकार सबकी सहमति से आगे बढ़ती है। पंडित धीरेंद्र शास्त्री उस पत्रकार से कहते हैं कि मैं पर्चा अभी लिख देता हूं। वह बालाजी का नाम लेकर एक पर्चा तैयार करते हैं।

पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री महिला पत्रकार को चैलेंज देते हैं कि यहां पर चार पंडाल बने हुए हैं। आप किसी भी पंडाल में जाकर किसी व्यक्ति को बुला लाएं। पर्चा में लिखी बातें उसी के बारे में होगी। हां, आप इसका जरूर ख्याल रखिएगा वह आपका परिचित नहीं हो। महिला पत्रकार बाबा का चैलेंज स्वीकार कर वहां से आगे बढ़ती है। कुछ दूर आगे जाकर वह भीड़ से एक महिला को बुला लाती है।

पत्रकार महिला और उसके बच्चे को लेकर लेकर पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री के पास पहुंची है। इसके बाद बाबा ने अपनी पर्ची महिला को दी। पर्ची में लिखी बातें महिला के बारे में थी। महिला बिलासपुर में रहती है। अपने बच्चे की बीमारी को लेकर वह आई थी। पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री ने कहा कि बालाजी की कृपा से 40 फीसदी तक बीमारी ठीक हो जाएगी। पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री ने महिला को यह भी बताया कि तुम यूपी की रहने वाली है। बिलासपुर में रहती हो। तुम्हारी कुल देवी गांव में ही रहती हैं। उनकी पूजा और श्रृंगार करते रहो। इसके बाद वह महिला से सवाल पूछते हैं कि क्या तुम्हारा हमसे पहले से कोई परिचय है। तुम अपनी समस्याओं के बारे में हमें पहले कभी बताई हो। महिला इससे इनकार कर देती है। महिला बागेश्वर धाम महाराज के सवाल पर कहती है कि मैंने आपको नहीं बताई है।

उल्लेखनीय है कि बागेश्वर धाम के पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री पर लगातार अंधविश्वास फैलाने के आरोप लगाए जा रहे हैं, जिसके बाद से वो विवादों में फंसे हुए हैं। हालांकि बागेश्वर बाबा ने अपनी बातचीत में अपने ऊपर लगे आरोपों पर जवाब दिया है। उन्होंने कहा कि हम पूछना चाहते हैं कि दूसरे धर्मों के लोग भी अपने धर्म का प्रचार-प्रसार करते हैं, तो हम अगर ऐसा कर रहें तो हम पर ही हमला क्यों होता है?

धीरेंद्र शास्त्री ने ‘चमत्कारों’ को बागेश्वर धाम सरकार की कृपा बताते हुए कहा, ‘हम कोई फेस रीडिंग नहीं करते। हम धाम में आने वाले लोगों के परेशानियों का हल ‘हनुमान जी’ से पूछकर उन्हें बताते हैं। हम एक साधारण भगवान के भक्त हैं। हम कोई दावा नहीं करते हैं, हमें बस अपने ईष्ट से आभास मिलता है, उस पर काम करते हैं।’ उन्होंने आगे कहा कि ये दरबार प्राचीन भारत की परंपरा रही है। ऐसे दरबार हमारे गुरू और उनके भी गुरू लगाते थे। उड़ीसा में भी ऐसे दरबार लगते रहे। हम बस उसी परंपरा को आगे बढ़ा रहे हैं। मिशनरी करोड़ों रुपए खर्च करके लोगों का धर्मांतरण करवाती हैं, लेकिन हमने उनके प्लान को फेल कर दिया, तो वे लोग साजिश रच रहे हैं और बागेश्वर धाम सरकार की महिमा पर सवाल उठा रहे हैं, क्योंकि इन लोगों को डर है कि ये आदमी 5 साल में हमारा खेल बिगाड़ दे रहा है। उधर, शुक्रवार को रायपुर में मीडिया ट्रायल के बाद धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री को लोगों को समर्थन मिलने लगा है। आरोपों की बौछार के बीच कई लोग अब बागेश्वर बाबा के समर्थन में भी उतर आए हैं। यहां तक कि योग गुरु बाबा रामदेव ने धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री का समर्थन किया है

बागेश्वर महाराज ने कहा कि आज के बाद अब मैं किसी को कोई सफाई नहीं दूंगा। अगर सनातन में विश्वास रखने वालो को अंधविश्वासी कहा तो मैं ऐसे लोगों को नंगा कर दूंगा। सोशल मीडिया पर ये वीडियो काफी वायरल हो रहा है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.