आज देश में मनाया जा रहा है “हिंदी दिवस”, जानिए इस भाषा से जुड़ीं कुछ रोचक जानकारियां

भारत के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल लाल नेहरू ने 14 सितंबर को हिंदी दिवस के रूप में मनाए जाने की घोषणा की थी।14 सितंबर 1953 को देश में पहली बार हिंदी दिवस मनाया गया था। 

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ): भारत में 14 सितंबर को हर साल हिंदी दिवस मनाया जाता है। हिंदी भाषा न देश के सबसे अधिक राज्यों में बोली जाने वाली भाषाहै, बल्कि दुनिया में सबसे ज्यादा बोली जाने वाली चौथी भाषा है। भारत में कई भाषाएं बोली जाती हैं।  हिंदी भारत की पहचान है, जो दुनियाभर में बसे हिंदी भाषी लोगों को एकजुट करती है। हालांकि पिछले कुछ वर्षों में अंग्रेजी भाषा का चलन और लोकप्रियता बढ़ी है। हिंदी के प्रचार प्रसार और लोगों को हिंदी भाषा के प्रति जागरूक करने के लिए हिंदी दिवस मनाए जाने की शुरुआत हुई। भाषा के महत्व को प्रदर्शित करने और उजागर करने के लिए स्कूलों, कॉलेजों, कार्यालयों और संगठनों में विशेष कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं।

आपको बता दें कि आजादी के बाद संविधान सभा ने 14 सितंबर, 1949 को हिंदी को आधिकारिक भाषा के रूप में अपनाया। इसी दिन के बाद से हर साल 14 सितंबर को हिंदी दिवस के रूप में मनाया जाता है।भारत में  वर्तमान में करीब 50 करोड़ लोग हिंदी भाषा का प्रयोग करते हैं। इसके अलावा भारत के पड़ोसी देश नेपाल दूसरा सबसे बड़ा समूह है, जहां हिंदी भाषी लोग मिल जाएंगे। नेपाल में आठ मिलियन लोग हिंदी बोलते हैं। अमेरिका में हिंदू 11वीं सबसे लोकप्रिय भाषा है। मॉरीशस की एक तिहाई लोग हिंदी भाषा बोलते हैं। भारत के अलावा फिजी, सूरीनाम, गुयाना, त्रिनिदाद और टोबैगो जैसे देशों में भी हिंदी का काफी प्रचलन है।

हिंदी राष्ट्रीय नहीं बल्कि राजकीय भाषा है। 14 सितंबर 1949 को देवनागरी लिपि हिंदी को भारत की राजभाषा तौर पर स्वीकार किया गया था। वहीं, 26 जनवरी 1950 को संविधान के अनुच्छेद 343 में हिंदी को आधिकारिक भाषा के रूप में मान्यता दी गई थी। राष्ट्रपिा महात्मा गांधी का मानना था कि हिंदी जनमानस की भाषा है। कई इतिहासकारों का यह भी कहना है कि महात्मा गांधी हिंदी को राष्ट्रभाषा बनाने के भी पक्षधर थे। हालांकि, यह अबी तक संभव नहीं हो पाया है। भारत के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल लाल नेहरू ने 14 सितंबर को हिंदी दिवस के रूप में मनाए जाने की घोषणा की थी। उनके ही कार्यकाल में 14 सितंबर 1953 को देश में पहली बार हिंदी दिवस मनाया गया था।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.