शेयर बाजार के ‘बिग बुल’ राकेश झुनझुनवाला का निधन,

भविष्यवाणी ये कि इन तीन 'म' के बारे में कोई सटीक भविष्यवाणी ही नहीं कर सकता। ये तीन 'म' थे मौसम, मौत और मार्केट। आज अचानक राकेश झुनझुनवाला की मौत की खबर आई।

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ): दिग्गज शेयर निवेशक और अरबपति व्यवसायी राकेश झुनझुनवाला का निधन हो गया है। झुनझुनवाला ने 62 साल की उम्र में ली अंतिम सांस ली। मुंबई के ब्रीच कैंडी अस्पताल ने उनके निधन की पुष्टि की है। झुनझुनवाला को 2-3 सप्ताह पहले ही अस्पताल से डिस्चार्ज किया गया था और वह घर आ गए थे। उनके निधन की खबर से सब अचंभित हैं। उनके निधन की खबर ऐसे समय आई है जब हाल में उन्‍होंने अपनी एयरलाइन शुरू की है। इसका नाम आकासा एयर है।

झुनझुनवाला को शेयर बाजार का बेताज बादशाह माना जाता था। निवेश के क्षेत्र में झुनझुनवाला की धाक इतनी थी कि उन्हें भारत का वॉरेन बफेट भी कहा जाता था। दुनियाभर में शेयर बाजार में उनकी पैनी नजर की मिसाल दी जाती है। कई बार बाजार में उठापठक की आंधी के बीच भी उन्होंने जिस तरह से व्यापार को संभाला उसने सभी को हैरान कर दिया।

‘मौसम, मौत, मार्केट और महिला…कुछ भी कहना मुश्किल’
इसी साल फरवरी में राकेश झुनझुनवाला ने सीआईआई के कार्यक्रम में कहा था कि मौसम, मौत और मार्केट के बारे में कोई भी भविष्यवाणी नहीं कर सकता। कब मौसम बदल जाए, कब मौत आ जाए और कब मार्केट की चाल बदल जाए, ये कोई नहीं कह सकता। वैसे कार्यक्रम में झुनझुनवाला ने एक और ‘म’ की भी बात की थी जिसके बारे में कोई पूर्वानुमान नहीं लगा सकता। वह थी ‘महिला’। यानी ‘मौसम, मौत, मार्केट और महिला’ के बारे में कोई पूर्वानुमान नहीं लगा सकता।
कार्यक्रम में झुनझुनवाला ने कहा कि स्टॉक मार्केट का कोई किंग नहीं होता। जो खुद को किंग समझते थे वे आर्थर रोड जेल पहुंच गए। उन्होंने कहा था कि मौसम, मौत, मार्केट और महिला के बारे में कोई भी पूर्वानुमान नहीं लगा सकता, भविष्यवाणी नहीं कर सकता। दिग्गज निवेशक ने कहा, ‘मार्केट एक महिला की तरह है, हमेशा प्रभावशाली, रहस्यमय, अनिश्चित और नाजुक। आप कभी भी किसी महिला पर वर्चस्व नहीं बना सकते और इसी तरह आप कभी भी मार्केट पर हावी नहीं हो सकते।’

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.