क्वांटम कम्प्यूटिंग पर शोध पर भारत-फिनलैंड के बीच हुई वार्ता ।

डीएसटी के सलाहकार डॉ. केआर मुरली मोहन ने कहा कि हमारा उद्वेश्य एक उत्पाद और शोध आधारित सहयोग की दिशा में काम करने का है जो सुपरकंप्यूटिंग उपकरण, सेंसर, संचार प्रौद्योगिकी, अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी से संबंधित हो।

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ): भविष्य की कम्प्यूटिंग में क्वांटम कंप्यूटर्स का बोलबाला रहेगा। भारत और फिनलैंड ने क्वांटम कम्प्यूटिंग में सहयोग के संभावित क्षेत्रों और गठजोड़ आधारित वर्चुअल उत्कृष्टता केंद्र (सीओई) के खाके पर चर्चा की जिसे स्थापित करने की योजना बनाई गई है।
विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग (डीएसटी) के सचिव डॉ. एस चंद्रशेखर ने डीएसटी की बैठक में कहा ‘‘ दोनों देश शैक्षणिक तथा औद्योगिक साझीदार हासिल करने का प्रयास कर रहे हैं जो इस धरती तथा मानवता की बेहतरी के लिए क्वांटम विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी का विकास करने में सहायता कर सकते हैं।’’
उन्होंने कहा कि हम सबसे कम संभव समय में सर्वश्रेष्ठ संभव प्रौद्योगिकी प्राप्त करने के लिए इस क्षेत्र में वैश्विक उत्कृष्टता के लिये प्रतिबद्ध हैं।
यह बैठक क्वांटम कम्प्यूटिंग पर भारत-फिनलैंड वर्चुअल नेटवर्क केंद्र की स्थापना के लिए संयुक्त घोषणा पत्र पर हस्ताक्षर करने के एक दिन बाद आयोजित की गई।
विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय के बयान के अनुसार, बैठक में डॉ. चंद्रशेखर ने इस क्षेत्र में दोनों देशों की ताकत तथा कमजोरियों की रूपरेखा तैयार करने तथा एक समूह की स्थापना करने की जरूरत बतायी जो इन कमजोरियों से उबरने के लिए एक योजना बनाकर एवं साथ मिल कर काम करेगा ।
फिनलैंड के आर्थिक मामले एवं रोजगार मंत्रालय के राज्य के अवर सचिव पेट्री पेल्टोनेन ने भारत की सर्वश्रेष्ठ प्रतिभा के साथ फिनलैंड की सर्वश्रेष्ठ प्रतिभा के जुड़ने, वैज्ञानिक तंत्रों तथा दोनों देशों के शक्तिशाली आईटी समुदायों का उपयोग करने पर जोर दिया जिससे एक दूसरे के अनुभव का लाभ हो सके ।
डीएसटी के सलाहकार डॉ. केआर मुरली मोहन ने कहा कि हमारा उद्वेश्य एक उत्पाद और शोध आधारित सहयोग की दिशा में काम करने का है जो सुपरकंप्यूटिंग उपकरण, सेंसर, संचार प्रौद्योगिकी, अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी से संबंधित हो। फिलहाल भारत भी कववन्तम कंप्यूटर्स की दौड़ में पीछे नहीं रहना चाहता।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.