रूस की अमेरिका को चेतावनी – यूक्रेन को हथियार देना बंद करो ।

जर्मनी ने शुक्रवार को कहा कि वह यूक्रेन को सैन्य सहायता में एक बिलियन यूरो देने की योजना बना रहा है।

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ): रूस और यूक्रेन के बीच युद्ध अभी भी चल रहा है। यूक्रेन जंग को 52 दिन बीत चुके हैं। रूस के हमले के बीच यूक्रेन में सैनिकों के साथ कई नागरिक भी अपनी जान गंवा चुके हैं। कीव की पुलिस के मुताबिक राजधानी में अब तक 900 से ज्यादा नागरिकों के शव बरामद हो चुके हैं। इनमें से 350 से ज्यादा शव बूचा में मिले हैं। वहीं यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्की ने बयान में कहा- 24 फरवरी से अब तक यूक्रेन में करीब ढाई से तीन हजार सैनिक शहीद हो चुके हैं, जबकि 10 हजार से ज्यादा घायल हैं।
दूसरी तरफ, ब्लैक सी में वॉरशिप डूबने के बाद रूस ने अमेरिका को चेतावनी दी है। रूस ने कहा है कि अमेरिका यूक्रेन को हथियार देना बंद करे। ऐसा न करने पर अमेरिका को ऐसे जोखिम का सामना करना पड़ सकता है, जिसका अंदाजा भी नहीं लगाया जा सकता। इस पर अमेरिकी विदेश विभाग के प्रवक्ता नेड प्राइस ने कहा कि अमेरिका को यूक्रेन का समर्थन जारी रखने से कोई भी नहीं रोक सकता है।
अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने यूक्रेन के लिए 800 मिलियन डॉलर (करीब 6,089 करोड़ रुपए) के मिलिट्री सहायता को मंजूरी दी है। इसमें 11 हेलिकॉप्टर, 18 हॉवित्जर तोप और 300 स्विचब्लेड ड्रोन शामिल हैं।
शनिवार को खार्किव में हुए रूसी हमले में अब तक 10 लोगों के मौत की खबर है। इनमें 7 महीने का एक बच्चा भी शामिल है। वहीं, 35 लोग घायल हुए हैं।
दक्षिणी यूक्रेन के मायकोलाइव शहर में शुक्रवार को रूस ने हमले किए। रिहायशी इमारतों पर हुए हमले में 5 यूक्रेनी नागरिकों की मौत हुई है। वहीं, 15 घायल हुए हैं।
IMF (इंटरनेशनल मॉनिटकी फंड) की मैनेजिंग डॉयरेक्ट क्रिस्टालिना जॉर्जीवा ने शुक्रवार को कहा कि हम बड़े पैमाने पर यूक्रेन में रिकंस्ट्रक्शन की की तैयारी कर रहे हैं। IMF यूक्रेन की मदद को लेकर इमरजेंसी फंड को पहले ही बढ़ाकर 1.4 बिलियन डॉलर कर चुका है।
रूसी सेना ने चेर्निहीव में यूक्रेनी सैनिकों पर शुकवार रात फिर से गोलाबारी की। इससे पहले शुक्रवार सुबह, रूसी सैनिकों ने रूसी सीमा के पास यहां के सेनकिवका गांव पर गोलाबारी की थी।
जर्मनी ने शुक्रवार को कहा कि वह यूक्रेन को सैन्य सहायता में एक बिलियन यूरो देने की योजना बना रहा है। यूक्रेन बर्लिन से बड़े हथियार नहीं मिलने की शिकायत कर चुका है। ग्राफिक्स से समझिए रूस यूक्रेन जंग का सूरते हाल…
वाशिंगटन पोस्ट के मुताबिक, यूक्रेनी राष्ट्रपति वोलोदिमिर जेलेंस्की ने हाल अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन से फोन पर बातचीत की। जेलेंस्की ने बाइडेन से रूस को आतंकवाद को स्पांसर करने वाला देश घोषित करने की अपील की। हालांकि,इसे लेकर बाइडेन ने कोई भी आश्वासन नहीं दिया।
अमेरिका पहले ही रूस को आतंकवाद के स्पांसर करने वाले देशों की लिस्ट में शामिल करने से इनकार कर चुका है। इसमें अभी उत्तर कोरिया, सीरिया, क्यूबा और ईरान शामिल हैं। व्हाइट हाउस के प्रेस सचिव जेन साकी ने पिछले महीने मीडिया से कहा था कि हम जमीनी कार्रवाई पर फोकस कर रहे हैं। इस लिस्ट में रूस को शामिल करने से उन देशों पर भी असर पड़ेगा जो मास्को के साथ व्यापार कर रहे हैं।
कीव पुलिस के चीफ ने शुक्रवार को एक ब्रीफिंग के दौरान कहा कि रूसी सेना के इलाके से हटने के बाद से 900 से अधिक नागरिकों के शव खोजे गए हैं। एंड्री नीबितोव ने कहा कि शवों की जांच की गई और विस्तृत जांच के लिए फोरेंसिक लैब भेजा गया है। नीबितोव ने यह भी कहा कि शेवचेंको गांव में कुछ लोगों के शवों की पहचान कर ली गई है। वे सिविलियन्स थे और उन्हें गोली मारी गई थी।
नीबितोव के मुताबिक, जिन लोगों को गोली मारी गई उनमें से कुछ ने रूसी सेना से खुद को बचाने के लिए हाथ पर सफेद बैंड बांधे थे। हमारे शहरों के कब्जे के दौरान, रूसी सेना ने उन नागरिकों को सफेद बैंड पहनने को कहा, जिनकी जांच हो चुकी थी। इसलिए जान बचाने के लिए हमारे लोगों ने इन सफेद बैंड्स को पहना था।
सीएनएन की रिपोर्ट के मुताबिक, अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने कहा है कि अमेरिका का मानना ​​​​है कि रूस- यूक्रेन जंग 2022 के अंत तक चल सकती है। ये बाते सीएएन ने दो यूरोपीय अधिकारियों के हवाले से बताई है।
यही बात दोहराते हुए अमेरिकी राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जेक सुलिवन ने कहै है कि यूक्रेन में लड़ाई लंबी खिंचने की की संभावना है। यह महीनों या उससे भी अधिक समय तक चलेगी। यूरोपीय अधिकारियों ने बताया कि इस बात कि कम ही संभावना है कि पुतिन सैन्य हार का सामना करने तक डिप्लोमेटिक डॉयलाग का सहारा लेंगे।
UN की मानवाधिकार एजेंसी ने कहा कि जंग की शुरुआत के बाद से यूक्रेन में 1982 नागरिक मारे गए हैं। इनमें 511 पुरुष, 323 महिलाएं, 34 लड़कियां और 56 लड़के शामिल हैं। वहीं, 72 बच्चे की भी मौत हुई है और 2,651 लोग घायल हो चुके है। फिलहाल युद्ध के जारी रहने से दुनिया में अनेकों प्रकार की अस्थिरता चल रही है।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.