जितेंद्र नारायण सिंह त्यागी (वसीम रिजवी) की गिरफ्तारी मामले को लेकर हरिद्वार में माहौल गरम, यति नरसिंहानंद गिरी अनशन पर बैठे l

गिरफ्तारी के मामले को लेकर संत लोग यति नरसिंहानंद के साथ धरने पर बैठे हुए हैं।

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ): जितेंद्र नारायण सिंह त्यागी(वसीम रिजवी) को उत्तराखण्ड पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आपको बता दें कि उनकी गिरफ्तारी धर्म संसद में दिए गए उनके बयान के कारण हुई है। यह धर्म संसद खड़खड़ी स्थित वेद निकेतन में 7 से 19 दिसंबर 2021 के दौरान आयोजित हुआ था। जितेंद्र नारायण ने कहा की उनके खिलाफ उत्तराखण्ड के अलावा हैदराबाद में भी असदुद्दीन ओवैसी द्वारा ऐसा ही केस दर्ज करवाया गया था उन्होंने कहा ” भारत के विभिन्न थानों में हेट स्पीच बता कर मेरे विरुद्ध जो मुकदमे दर्ज करवाए जा रहे हैं ये कट्टरपंथी मुल्लाओं की, मुस्लिम समाज के आतंकी लोगों की बौखलाहट है। क्योंकि वो समझ रहे हैं कि उनकी पोल खुल चुकी है। सच्चाई कहना हेट स्पीच नहीं है।”
बयान को लेकर को सुप्रीम कोर्ट के दरवाजे भी खटखटाए गए थे। सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले पर उत्तराखण्ड सरकार से जवाब मांगा था। इसके बात जब जितेंद्र नारायण हरिद्वार जा रहे थे तब उन्हें उत्तराखण्ड पुलिस ने रूड़की में गिरफ्तार कर लिया।
आपको बता दें मामले को लेकर संतों का समाज इस समय जितेंद्र नारायण के साथ आ गया है। यति नरसिंहानंद ने कहा है की गिरफ्तारी अगर जितेंद्र नारायण की गयी है तो मेरी भी की जाय। गिरफ्तारी के मामले को लेकर संत लोग यति नरसिंहानंद के साथ धरने पर बैठे हुए हैं।
आपको बता दें की जितेंद्र नारायण पहले से मुस्लिम कट्टरपंथी बयानों के खिलाफ खुल कर बोलते आए हैं। अभी हाल ही में जितेंद्र नारायण ने असदुद्दीन ओवैसी को कड़ा जवाब दिया था। 12 दिसंबर 2021 को कानपुर की एक सभा में दिए गए अपने बयान में असदुद्दीन ओवैसी ने पुलिस को धमकी दी थी और कहा था-“मैं पुलिस वालों को बता देना चाहता हूँ कि वो याद रखें कि न तो योगी हमेशा मुख्यमंत्री नहीं रहेंगे और न ही मोदी हमेशा प्रधानमंत्री। हम मुस्लिम समय को देख कर चुप हैं। पर ध्यान रहे कि हम कुछ भूलने वाले नहीं हैं। हमें तुम्हारा अन्याय याद रहेगा। अल्लाह अपनी ताकत से तुम्हे बर्बाद करेगा। इंशाल्लाह हम याद रखेंगे और समय भी बदलेगा। तब तुम्हे बचाने कौन आएगा जब योगी अपने मठ और मोदी हिमालय में चले जाएँगे? याद रहे, हम नहीं भूलने वाले।”
इसके जवाब में जितेंद्र नारायण सिंह त्यागी ने कहा- “याद रखो असदुद्दीन ओवैसी सनातन धर्म की रक्षा सनातन धर्म के लोग करना जानते हैं। मोदी, योगी और अमित शाह अभी मौजूद हैं, उनके जाने की फिक्र छोड़ो बाबर और औरंगजेब अब हिंदुस्तान में दफन हो चुके हैं। कट्टरपंथियों अपने लिए मुस्तकबिल (भविष्य) की तलाश करो। अगर तुम इसी तरह की भाषा प्रयोग करोगे तो तुम हिंदुस्तान में रह पाओगे या नहीं ये तुम्हें तय करना है।”

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.