हर्ष मंदर के घर ED का छापा – बाल गृह में पैसों की गड़बड़ी का मामला ।

जाँच एजेंसी के छापे से करीब तीन घंटे पहले ही वह पत्नी के साथ जर्मनी के लिए रवाना हो गए।

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ): हर्ष मंदर के घर ED का छापा पड़ा है। दिल्ली पुलिस की इकोनॉमिक ऑफेन्स विंग की तरफ से दर्ज की गई FIR के आधार पर ED ने गुरुवार को यह कार्रवाई की है। इससे करीब तीन घंटे पहले ही हर्ष मंदर और उनकी पत्नी जर्मनी के लिए रवाना हो गए थे और ED ने उनके पीछे से छापा मारा है। ये कार्रवाई चिल्ड्रन होम्स में पैसों की गड़बड़ी के मामले में की गई है। बता दें हर्ष मंदर मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में कलेक्टर भी रह चुके हैं।
जाँच एजेंसी के छापे से करीब तीन घंटे पहले ही वह पत्नी के साथ जर्मनी के लिए रवाना हो गए। हर्ष मंदर गुरुवार सुबह 3 बजे बर्लिन के लिए रवाना हो गए थे। वे बर्लिन की रॉर्बट बोश्च एकेडमी में 6 महीने की फेलोशिप के लिए गए हैं। इसके करीब 3 घंटे बाद ED ने उनके वसंत कुंज स्थित घर और सेंटर फॉर इक्विटी स्टडीज में उनके ऑफिस में एक साथ छापे मारे। वहीं उनके NGO की तरफ से चलाए जा रहे दो बालगृहों पर भी रेड की गई।
दिल्ली पुलिस ने नेशनल कमीशन फॉर प्रोटेक्शन ऑफ चाइल्ड राइट्स (NCPCR) के निर्देश पर FIR दर्ज की थी। NCPCR के मुताबिक, दिल्ली के महरौली इलाके में हर्ष मंदर के दो बालगृहों- उम्मीद अमन घर (लड़कों के लिए) और खुशी रेनबो होम (लड़कियों के लिए) में पैसों की गड़बड़ी पाई गई है।
राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने मंगलवार (27 जुलाई) को दिल्ली हाईकोर्ट को बताया कि विभिन्न विसंगतियों और उल्लंघनों को पाए जाने के बाद हर्ष मंदर से जुड़े दो बाल गृहों के खिलाफ कार्रवाई की सिफारिश की गयी थी। एनसीपीसीआर के मुताबिक, बच्चों ने बताया था कि बड़े लड़कों को सीएए (CAA) के विरोध में प्रदर्शन स्थल पर भेजा गया था। एक बच्चे का bayaan ऐसा था की पीएम मोदी सिर्फ हिंदुओं की सुनते हैं और पाकिस्तान से लड़ते हैं। आयोग ने बताया कि लड़कियों में से एक ने आयोग को बताया कि वह 4-5 लड़कियों को साथ लेकर सीएए के विरोध में जंतर-मंतर गई थी। उनके अनुसार यह भी पया गया कि बड़े लड़कों को भी विरोध स्थलों पर भेजा गया था। बच्चों को विरोध के लिए भेजना किशोर न्याय अधिनियम, 2015 की धारा 83(2) का कानूनन उल्लंघन है। आपको बता दें कि हर्ष मंदर सोनिया गाँधी के करीबी रहे हैं। वह प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के कट्टर विरोधी हैं। फिलहाल मंदर के ऊपर कई आरोप हैं जिनकी जांच चल रही है।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.