NIA ने सचिन वाजे के खिलाफ UAPA के तहत दर्ज किया मामला।

देश के सबसे बड़े उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर एंटीलिया के बाहर विस्फोटक से भरी कार, मुंबई पुलिस का एक असिस्टेंट पुलिस इंस्पेक्टर, एक हत्या और एक के बाद कई खुलासों ने पूरी मुंबई को उलझा दिया है।

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ): एंटीलिया केस के मामले में सचिन वाजे पर शिकंजा कसता जा रहा है। वाजे पर UAPA की धाराएं लगा दी गई है। वहीं ठाणे कोर्ट ने मनसुख की मौत की जांच NIA को सौंपने को कहा है। इस केस में एक और अहम किरदार रियाज काजी सरकारी गवाह बनने के लिए राजी हो गया है। वाजे के करीबी रियाजा काजी से कई अहम सबूत सामने आने की बात कही जा रही है।
देश के सबसे बड़े उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर एंटीलिया के बाहर विस्फोटक से भरी कार, मुंबई पुलिस का एक असिस्टेंट पुलिस इंस्पेक्टर, एक हत्या और एक के बाद कई खुलासों ने पूरी मुंबई को उलझा दिया है। एंटीलिया केस में सचिन वाजे की गिरफ्तारी हो चुकी है। एंटीलिया केस में जांच कर रही देश की सबसे बड़ी एंजेंसी NIA एक्शन में है और सचिन वाजे के खिलाफ UAPA लगा दी गई है। मतलब NIA एंटीलिया केस की पूरी तह तक जाने की तैयारी में है।
इस मामले में ठाणे की अदालत ने ATS को कड़ी फटकार लगाई। कोर्ट ने ATS को मनसुख मौत की जांच तुरंत रोकने का आदेश दिया है। जिसके बाद ATS ने गिरफ्तार दो आरोपियों को जल्द NIA को सौंपे जाने की खबर है। यही नहीं सचिन वाजे का सहयोगी API रियाज काजी सरकारी गवाह बनने के लिए राजी हो गया है। आपको बता दें रियाज काजी को वाजे का सबसे बड़ा राजदार माना जा रहा है।
वाजे विस्फोटक केस में दो जांच एजेंसियां ATS और NIA आमने-सामने आ गई है। आईए हम आपको बताते हैं कि इस केस की जांच कर रही NIA और ATS को अब तक क्या क्या सुराग हाथ लगे हैं। NIA की गिरफ्त में सचिन वाजे है। जिसे 13 मार्च को NIA ने गिरफ्तार किया था। NIA के पास वाजे के घर के फुटेज भी हैं। NIA के पास एंटीलिया के बाहर के CCTV फुटेज भी हैं। जिसका इस्तेमाल उसने क्राइम सीन रिक्रिएशन में किया था। यही नहीं NIA के पास वाजे और मनसुख के एक ही गाड़ी में होने वाली तस्वीरें भी है। इसके साथ NIA वाजे के इस्तेमाल की गई मर्सिडीज से जब्त नोट गिनने वाली मशीन भी जब्त कर चुकी है।
वहीं ATS के पास वाजे की इस्तेमाल की गई कार के अलावा 14 सिम कार्ड जो वाजे ने गुजरात से मंगवाई थी। इस पूरे मामले में बुकी नरेश और विनायक की गिरफ्तारी भी हो चुकी है। इसके अलावा एटीएस के पास विनायक के घर से मिले प्रिंटर, डाय़री और कुछ कागजात भी मौजूद हैं।
एंटीलिया केस में NIA की देर से एंट्री सही लेकिन जिस तरह से NIA पूरे मामले में एक के बाद एक खुलासे कर रही है। उससे इस केस से जुड़े आरोपियों की नींद हराम हो गई है। क्योकिं एंटीलिया केस साजिश वाली कार से होती हुई काफी दूर तक जा पहुंची है। इसमें कई नए किरदारों की भी एंट्री हो चुकी है। जिस तरीके से साजिश की परतें खुल रही है। ऐसा प्रतीत हो रहा है की इस केस के मास्टरमाइंड तक जल्द ही जांच एजेंसियां पहुँच जाएंगी।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.