दिल्ली : दलित युवक से मुस्लिम लड़की के शादी करने के बाद मुस्लिमों द्वारा की गई हिन्दुओं के घरों व वाहनों में जमकर तोड़फोड़।

इस हिंसक घटना के बाद से इलाके में तनाव बढ़ गया है वहीं घटना की सूचना मिलने के बाद से ही मौके पर अर्द्धसैनिक बलों को तैनात कर दिया गया है।

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ): मुस्लिम समुदाय द्वारा हिंसा का नया मामला सामने आया है। दक्षिणी दिल्ली के सराय काले खाँ गाँव में शनिवार रात मुस्लिम समुदाय के 50 से अधिक उपद्रवियों ने जमकर बवाल किया। मुस्लिमों की उग्र भीड़ ने इलाके की दलित बस्ती में घुसकर आधे घंटे तक लाठी डंडो और तलवार के साथ हिन्दुओं की संपत्ति को तहस-नहस किया। इस हिंसक घटना के बाद से इलाके में तनाव बढ़ गया है वहीं घटना की सूचना मिलने के बाद से ही मौके पर अर्द्धसैनिक बलों को तैनात कर दिया गया है। रात में मुस्लिम भीड़ द्वारा हुए उपद्रव के बाद लोग दहशत में हैं। घटना की भयावहता को आप CCTV फुटेज में देख सकते हैं कि किस तरह से मुस्लिम भीड़ बेलगाम हो हिंसा पर उतारू है।
मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, दलित युवक के मुस्लिम समुदाय की लड़की से शादी करने से नाराज युवती के परिजनों और उनके साथियों ने शनिवार रात सराय काले खाँ गाँव की दलित बस्ती में बेखौफ जमकर उत्पात मचाया जैसे किसी का इन्हें डर ही न रहा हो।
50 से अधिक की संख्या में बस्ती में घुसी मुस्लिम भीड़ ने हिन्दुओं की कुल तीन गलियों को निशाना बनाया और तलवार लाठी डंडे और पत्थरों के साथ जमकर हमला कर दिया। रात के 11 बजे के बाद अचानक हुए इस हमले से बस्ती में रहने वाले लोग सहम गए। हालाँकि, लोगों ने तुरंत ही दिल्ली पुलिस को घटना की सूचना दी।
हिन्दू समुदाय के लोगों का आरोप है कि सूचना देने के करीब आधे घंटे बाद पुलिस बल मौके पर पहुँचा। तब तक मुस्लिमों की भीड़ लगातार लोगों को धमकी देते हुए बवाल करते रहे। तोड़फोड़ के बाद जैसे ही वे लोग निकले लोगों ने दिल्ली पुलिस को लिखित में शिकायत दी है। रिपोर्ट के अनुसार, दिल्ली पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर करीब पाँच युवकों को हिरासत में लिया है और उनसे पूछताछ की जा रही है।
रिपोर्ट के अनुसार पूरा मामला कुछ यूँ है कि सराय काले खाँ में रहने वाले एक दलित युवक के एक मुस्लिम लड़की से प्रेम संबंध थे। स्थानीय लोगों के मुताबिक युवक ने करीब छह माह पहले ही चोरी छिपे युवती से प्रेम विवाह कर लिया था। लेकिन कुछ दिन पहले ही मुस्लिम परिवार ने युवती का निकाह किसी अन्य व्यक्ति से तय कर दी थी।
जिसके बाद अपने परिवार के खिलाफ जाते हुए युवती ने कानून की शरण ली और दो दिन पहले ही सनलाइट कालोनी थाने में अपना बयान दर्ज कराने के बाद वह दलित युवक के साथ उसके घर चली गई। युवक का परिवार युवती को लेकर अपने किसी रिश्तेदार के घर गाजियाबाद चला गया। इसी से नाराज होकर मुस्लिम समुदाय के लोगों ने शनिवार रात इलाके के तमाम हिन्दुओं को अपना निशाना बनाने की कोशिश की। घरों और वाहनों मे तोड़ फोड़ करने के साथ लोगों को धमकाने का सिलसिला चलता रहा।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.