‘ड्रैगन’ के साथ सीमा पर तनाव का सिलसिला जारी ।

बता दें की चीन के साथ सीमा पर तनाव का सिलसिला जारी हैं।

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ): बता दें की चीन के साथ सीमा पर तनाव का सिलसिला जारी हैं। चीन के अड़ियल रवैये के चलते एशिया के दो सबसे बड़े मुल्कों के बीच रिश्ते तनावपूर्ण हो गए हैं। भारत ने एक बार फिर यह दोहराया है कि वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर बनी स्थिति का जिम्मेदार चीन था। भारत ने कहा कि पूर्वी लद्दाख सीमा पर बीजिंग ने एकतरफा यथास्थिति को बदलने का प्रयास किया, जिसका परिणाम यह हुआ कि सीमा पर शांति बनाए रखने के लिए दोनों मुल्कों के बीच हुए द्विपक्षीय समझौतों का उल्लंघन किया गया।नई दिल्ली ने बीजिंग को यह भी कहा कि चीन जो कहता है, उसका पालन भी करे। दरअसल, चीन ने हाल ही में कहा था कि यह सीमा पर शांति स्थापित करने के लिए दोनों देशों के मध्य हुए द्विपक्षीय समझौतों और प्रोटोकॉल का कड़ाई से पालन करता है। इसके बाद भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा, चीन ने एलएसी पर अपने जवानों की बड़ी संख्या में तैनाती के लिए अलग-अलग कारण बताए।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने कहा, पिछले छह महीने में हमने पूर्वी लद्दाख में एलएसी पर जो कुछ भी देखा वो चीनी पक्ष द्वारा एकतरफा प्रयास कर इसकी यथास्थिति बदलने का परिणाम था। उन्होंने कहा, ये कार्रवाई भारत-चीन सीमा क्षेत्रों में एलएसी पर शांति और एकता बनाए रखने के लिए किए गए द्विपक्षीय समझौतों और प्रोटोकॉल का उल्लंघन था।  केंद्र सरकार ने चीन के उस दावे को भी गलत बताया, जिसमें बीजिंग ने कहा कि इसने दोनों देशों के बीच 70 वर्षों के राजनयिक गठबंधन को चिन्हित करने के लिए स्मारक टिकटों की संयुक्त रिलीज को रद्द कर दिया है, क्योंकि भारत की तरफ से प्रतिक्रिया की कमी रही।

 

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.