26/11 मुंबई हमले में मारे गए आतंकियो के पक्ष में हाफिज सईद ने पाकिस्तान में किया प्रार्थना सभा का आयोजन।

भारत जहां मुंबई 26/11 हमले को काले दिन की तरह मानता है वही पाकिस्तान में मारे गए आतंकियो को सम्मान देने के लिए सभाऐं आयोजित की गई हैं।

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ): भारत जहां मुंबई 26/11 हमले को काले दिन की तरह मानता है वही पाकिस्तान में मारे गए आतंकियो को सम्मान देने के लिए सभाऐं आयोजित की गई हैं। मुंबई हमले 26/11 की बरसी पर पाकिस्तान में आतंकवादी संगठन जमात-उद-दावा ने इस हमले के दौरान भारतीय सुरक्षा बलों द्वारा मार गिराए गए 9 आतंकवादियों व फांसी पर लटकाए गए कसाब के लिए आज प्रार्थना सभा रखी है। मुंबई हमले के 12 साल बाद पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के सोहीवाल में सभा का आयोजन किया गया है। बता दें कि जमात-उद-दावा पाकिस्तान में आतकंवादी संगठन लश्कर-ए-तैयबा का राजनीतिक चेहरा है।संगठन की तरफ से कैडर्स को फरमान जारी कर दिया गया है कि वे सभी इस प्रार्थना सभा में शामिल हों। कुख्यात आतंकवादी सईद जमात-उद-दावा का सरगना है। अंग्रेजी अखबार हिंदुस्तान टाइम्स में खुफिया सूत्रों के हवाले यह बताया गया है कि यह प्रार्थना सभा जमात की मस्जिदों में ही होगी।इस सभा में मुंबई हमले में 170 लोगों का कत्लेआम करने वाले आतंकवादियों के लिए प्रार्थना की जाएगी। बता दें कि मुंबई हमले नौ आतंकवादियों को मार गिराया था और एक आतंकवादी अजमल कसाब को जिंदा पकड़ लिया था। कसाब को बाद में सुप्रीम कोर्ट ने मौत की सजा सुनाई थी और उसे फांसी पर लटका दिया गया था।

जमात-उद-दावा ने जेके यूनाइटेड यूथ मूवमेंट नाम से एक राजनीतिक फोरम भी शुरू किया था, इसका मुख्य लक्ष्य जम्मू-कश्मीर में अलगाववादी गतिविधियों को मदद देना था। खुफिया इनपुट्स के अनुसार, लश्कर का चीफ ऑपरेशन कमांडर और उसकी जिहाद विंग संभालने वाला जकी-उर-रहमान लखवी पिछले दिनों हाफिज सईद से मिला था।जम्मू-कश्मीर में
यह मुलाकात सईद के लाहौर वाले घर में हुई थी।

 

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.