भारत में कोवैक्सीन के तीसरे चरण का परीक्षण शुरू ।

बढ़ते कोरोना मामलों के मद्देनज़र वैक्सीन पे शोध कार्य तेज़ी से चल रहा हैं।

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ):बढ़ते कोरोना मामलों के मद्देनज़र वैक्सीन पे शोध कार्य तेज़ी से चल रहा हैं।बता दें की भारत बायोटेक की कोरोना वैक्‍सीन कोवैक्सीन के तीसरे चरण का ट्रायल शुरू हो गया है। कंपनी के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक कृष्णा एला  ने सोमवार को बताया कि कंपनी कोरोना संक्रमण की काट के लिए एक और वैक्सीन पर काम कर रही है। इंडियन स्कूल ऑफ बिजनेस द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम को वीडियो कांफ्रेंस के जरिए संबोधित करते हुए एला ने कहा कि यह वैक्‍सीन नाक के जरिए ड्रॉप के तौर पर दी जाएगी।एला ने बताया कि यह वैक्सीन अगले साल तक तैयार हो जाएगी। भारत बायोटेक ने कोविड-19 के टीके के लिए भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद यानी आईसीएमआर  के साथ भागीदारी की है। कोवैक्सीन  का तीसरे चरण का परीक्षण शुरू हो गया है। भारत बायोटेक दुनिया की एकलौती कंपनी है जिसके पास जैव सुरक्षा स्तर-3  उत्पादन सुविधा है।

इससे पहले कंपनी की ओर से जारी बयान में बताया गया था कि उसने पहले और दूसरे चरण के ट्रायल का अंतरिम विश्लेषण भी सफलतापूर्वक पूरा कर लिया है। कंपनी की ओर से जारी बयान के मुताबिक, वह 26 हजार लोगों पर कोवैक्सीन  के तीसरे चरण का ट्रायल करेगी। भारत बायोटेक कोवैक्सीन का विकास आईसीएमआर और राष्ट्रीय विषाणु विज्ञान संस्थान  के साथ कर रही है।समाचार एजेंसी पीटीआइ के मुताबिक, कंपनी ने दो अक्टूबर को भारतीय औषधि महानियंत्रक से टीके के तीसरे चरण के ट्रायल की इजाजत मांगी थी। भारत बायोटेक  के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक कृष्णा एला  की मानें तो नाक के जरिए दी जाने वाली वैक्सीन अगले साल तक उपलब्‍ध होगी।

 

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.