रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर का सपना टूटा, सनराइजर्स हैदराबाद ने 6 विकेट से हराया

एलिमिनेटर मुकाबले में पूर्व विजेता सनराइजर्स हैदराबाद ने 6 विकेट से हरा दिया।

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ): विराट कोहली की कप्तानी वाली टीम रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर का आईपीएल की चमचमाती ट्रोफी जीतने का सपना एक बार फिर टूट गया। उसे एलिमिनेटर मुकाबले में पूर्व विजेता सनराइजर्स हैदराबाद ने 6 विकेट से हरा दिया। शुक्रवार को अबु धाबी के शेख जायेद स्टेडियम में खेले गए इस मुकाबले में दो कप्तानों ने कमाल दिखाया, वेस्ट इंडीज के जेसन होल्डर और न्यूजीलैंड के केन विलियमसन। डेविड वॉर्नर की टीम हैदराबाद ने केन विलियमसन (50*) की पारी की बदौलत एलिमिनेटर में बैंगलोर (131/7) को 6 विकेट से हरा दिया। इसी के साथ उसने क्वॉलिफायर-2 में जगह बनाई जहां उसकी भिड़ंत दिल्ली कैपिटल्स से होगी। बैंगलोर के लिए धुरंधर एबी डि विलियर्स ने 56 रन की पारी खेली लेकिन हैदराबाद के गेंदबाजों के सामने आरसीबी टीम बड़ा स्कोर खड़ा नहीं कर पाई। नीलामी में अनसोल्ड रहे जेसन होल्डर सनराइजर्स हैदराबाद (SRH) टीम का हिस्सा नहीं थे। यदि मिशेल मार्श के टखने में चोट ना लगती तो वह इस पूर्व विजेता टीम के लिए इस सीजन में नहीं खेल पाते। वेस्ट इंडीज के कप्तान ने इस टीम के लिए गेंदबाजी में कमाल दिखाया और फिर लगातार चौके लगाकर जीत में अहम भूमिका निभाई। आरसीबी ने विराट कोहली के साथ ओपनिंग करने का प्रयोग किया लेकिन यह कारगर साबित नहीं हुआ और उसे 6 विकेट से हार झेलनी पड़ी। इस हार के साथ ही विराट की कप्तानी वाली टीम का ट्रोफी जीतने का सपना इस सीजन भी अधूरा रह गया। होल्डर ने पहले विराट को खाता खोले बिना ही पविलियन भेज दिया, फिर अपने अगले ओवर में उन्होंने दूसरे ओपनर – इन-फॉर्म देवदत्त पडिक्कल को भी आउट कर दिया। उनके 2-0-9-2 के उस स्पेल ने सुनिश्चित किया कि पावरप्ले में हैदराबाद का फायदा हो। और फिर अपने दूसरे स्पेल की चौथी गेंद पर उन्होंने ऑलराउंडर शिवम दुबे को आउट किया। हैदराबाद ने आरसीबी के खिलाफ अपने आखिरी लीग मैच में मुश्किल से 121 रनों का पीछा किया था। एलिमिनेटर भी एक वक्त काफी रोमांचक हो गया था और 132 रन के टारगेट का पीछा करते हुए हैदराबाद ने 12वें ओवर में 67 रन तक 4 विकेट गंवा दिए। फिर न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन ने एंट्री ली और अपनी शांत, शानदार और बेहतरीन शैली में खेलते हुए 24 गेंदों में 13 रन बनाए। और फिर उन्होंने 14वें ओवर में वॉशिंगटन सुंदर की गेंद पर छक्का जड़ा और 16वें ओवर में युजवेंद्र चहल की गेंद को भी सिक्स के लिए भेज दिया। मैन ऑफ द मैच रहे विलियमसन ने अंतिम ओवर की पहली गेंद पर अपना अर्धशतक पूरा किया, लेकिन उन्हें केवल जीत से मतलब था। उन्हें अच्छा साथ दिया होल्डर ने, जब अंतिम चार गेंदों पर 8 रन की जरूरत थी तो वेस्ट इंडीज के इस दिग्गज ने लगातार दो गेंदों पर बाउंड्री लगाकर जीत दिला दी।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.