अमरीकी प्रेज़डेन्शल इलेक्शन २०२० : बाइडन पहुंचे राष्ट्रपति पद के करीब, ट्रम्प मतगणना धांधली के आरोप पर रहे कायम

बाइडन ने बनाई 264 निर्वाचक मंडल मतों के साथ निर्णायक बढ़त ।

अमेरिका में मतदान के दो दिन बाद भी राष्ट्रपति पद की तस्वीर साफ नहीं हो सकी है। मतगणना के बीच डेमोक्रेट उम्मीदवार जो बाइडन ने 264 निर्वाचक मंडल मतों के साथ निर्णायक बढ़त बना ली है। वहीं, मौजूदा राष्ट्रपति और रिपब्लिकन उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप 214 मतों के साथ व्हाइट हाउस की दौड़ में पिछड़ते दिख रहे हैं। ट्रंप कानूनी लड़ाई के फैसले पर आगे बढ़ गए हैं। दूसरी ओर, उनके समर्थक धांधली का आरोप लगाते हुए कई राज्यों में मतगणना केंद्रों के बाहर जुट गए हैं। समर्थकों ने कई जगह हंगामा और प्रदर्शन किया। वहीं डोनाल्ड ट्रंप उत्तरी कैरोलिना में आगे चल रहे हैं जबकि नेवाडा और एरिजोना में बाइडन बढ़त बनाए हुए हैं। वहीं, जॉर्जिया में दोबारा मतगणना से बाइडन का इंतजार और लंबा हो गया है।

डेमोक्रेटिक पार्टी के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार जो बाइडन ने कहा, हम स्पष्ट बहुमत के साथ जीत हासिल करेंगे, हमें 7.4 करोड़ से ज्यादा वोट मिले हैं। एरिजोना, पेंसिलवेनिया, और नेवाडा में जीत रहे हैं हम: बाइडन देश को संबोधित करते हुए डेमोक्रेटिक पार्टी के उम्मीदवार जोO बाइडन ने कहा, वह एरिजोना और नेवाडा में जीत हासिल कर रहे हैं।

डेमोक्रेटिक पार्टी ने जॉर्जिया में भी मामूली बढ़त हासिल कर ली थी। यहां पर 99 फीसदी मतों की गिनती हो चुकी थी, लेकिन अधिकारियों ने यहां पर फिर से मतगणना का एलान किया है। इससे चुनावों के नतीजे आने में वक्त लग सकता है। वहीं एरिजोना की सबसे बड़ी काउंटी में शुक्रवार को रात को हुई वोटों की गिनती से पता चलता है कि बाइडन यहां पर ट्रंप से पिछड़ रहे हैं। मैरिकोपा काउंटी द्वारा जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक, बाइडन और ट्रंप के बीच 29,861 वोटों का अंतर है।

वहीं मीडिया चैनलों ने ट्रंप के भाषण का प्रसारण  बीच में ही बंद कर दिया । न्यूयार्क टाइम्स के मुताबिक मतगणना के बीच राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने व्हाइट हाउस से एक संबोधन शुरू किया जिसे सभी चैनल लाइव प्रसारित कर रहे थे। इस दौरान ट्रंप ने चुनावों में धांधली और फर्जीवाड़े के आरोप लगाने शुरू कर दिए। इस बीच एबीसी, सीबीएस और एनबीसी चैनलों ने ट्रंप के दावों को झूठा बताते हुए राष्ट्रपति के संबोधन का प्रसारण बीच में ही बंद कर दिया। वहीं वाशिंगटन पोस्ट ने अपने संपादकीय में साफ तौर पर लिखा कि चुनाव में फर्जीवाड़े या भ्रष्टाचार के शून्य प्रमाण हैं। ट्रंप के सभी दावे गलत हैं। वहीं अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने दावा किया है कि अगर केवल ‘वैध मतों’ की ही गिनती होती तो वह कांटे की टक्कर वाले राष्ट्रपति चुनाव में आसानी से जीत गए होते। व्हाइट हाउस में संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए ट्रंप ने संकेत दिया कि अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव के नतीजों का फैसला अंतत: उच्चतम न्यायालय में होगा क्योंकि उन्होंने चुनाव में कथित धांधली के खिलाफ बड़े पैमाने पर वाद दाखिल करने की योजना बनाई है।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.