यूपी में 210 माफियाओं की साढ़े सात अरब संपत्ति पर योगी सरकार का शिकंजा, जानें कहां किस पर हुई कार्रवाई

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ): योगी सरकार के सख्त निर्देश पर हो रही कार्रवाई में माफियाओं को अब तक अरबों की आर्थिक चोट पहुंचाई जा चुकी है। माफिया और गैंगेस्टर में पूर्व सांसद और पूर्व विधायक सहित कई और जन प्रतिनिधि भी शामिल हैं। किसी का अवैध मकान, मॉल और गेस्ट हाउस गिराया गया तो किसी से कब्जा की गई करोड़ों की जमीन को मुक्त किया गया। माफियाओं की कमर तोड़ने के लिए कार्रवाई का यह सिलसिला अभी जारी है।

जिला और पुलिस प्रशासन की टीम स्थानीय प्राधिकरणों की मदद से माफियाओं, उनके रिश्तेदारों तथा गुर्गों के नाम की गई बेनामी संपत्तियों का ब्योरा जुटा रही है। प्रदेशव्यापी इस कार्रवाई की जद में अब तक 210 माफिया और गैंगेस्टर आ चुके हैं। इन्हें 766 करोड़ यानी साढ़े सात अरब से अधिक की आर्थिक चोट पहुंचाई जा चुकी है। माफिया और गैंगेस्टर के खिलाफ कार्रवाई में प्रयागराज ने अहम भूमिका निभाई है। पुलिस, प्रशासन और विकास प्राधिकरण ने अब तक पूर्व सांसद अतीक अहमद, उसके भाई पूर्व विधायक खालिद अजीम उर्फ अशरफ समेत कुल 23 लोगों के खिलाफ सरकारी जमीन को कब्जे से मुक्त कराने से लेकर ध्वस्तीकरण की कार्रवाई की है। अधिकारियों की मानें तो इस कार्रवाई में इन्हें करीब 300 करोड़ की आर्थिक चोट पहुंचाई जा चुकी है।

पूर्वांचल में मुख्तार अंसारी समेत 104 माफिया और उनके करीबियों के खिलाफ कार्रवाई कर मकान, जमीन, शस्त्र लाइसेंस समेत 103 करोड़ से ज्यादा की संपत्ति जब्त की गई हैं। वहीं लखनऊ में मुख्तार अंसारी उसके बेटों के खिलाफ बड़ी कार्रवाई कर करीब 100 करोड़ रुपये की सम्पत्ति ढहा दी गई और काफी सम्पत्ति कुर्क कर दी गई। मुख्तार को आर्थिक चोट पहुंचाने के लिये उसके भाई सांसद अफजाल अंसारी की सम्पत्ति को भी पुलिस ने अवैध घोषित कर दिया। यह सम्पत्ति अफजाल की पत्नी फरहत के नाम है। मुख्तार के बेहद करीब हरविन्दर उर्फ जुगनू की करीब ढाई करोड़ रुपये की सम्पत्ति कुर्क कर दी गई। इसमें कई लग्जरी वाहन भी थे। पीजीआई कोतवाली के हिस्ट्रीशीटर राम सिंह पर गैंगस्टर एक्ट के तहत 84 करोड़ रुपये की सम्पत्ति कुर्क कर उसका आर्थिक साम्राज्य पूरी तरह से ध्वस्त कर दिया गया।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.