उप्र : लड़की को अश्‍लील मैसेज और वीडियो भेज रहा दारोगा लाइन हाजिर, होगी जाँच।

आरोपी दरोगा मौजूदा समय में हाइवे से सटी एक चौकी का प्रभारी है, जबकि उसे संरक्षण दे रहा उसका सगा भाई भी सदर सर्किल की एक पुलिस चौकी का प्रभारी है।

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ) : यूपी में एक दरोग़ा ने अपनी हरकतों से एक लड़की का जीना मुश्किल कर दिया था। दरोग़ा की अश्लील हरकतों से पुलिस की छवि को बड़ा धब्बा लगा। चेकिंग के बहाने चौकी पर रोकने के बाद युवती को फोन कर अश्लील बातें शुरू कर दी। नंबर ब्लॉक किया तो वाट्सएप पर गंदे मैसेज-वीडियो भेजने लगा। अनैतिक दबाव का विरोध करने पर फर्जी मुकदमे में फंसाने की धमकी देने लगा। अंतत: लड़की ने साक्ष्य सहित आईजी रेंज से शिकायत की। उनके आदेश पर एएसपी ने जांच शुरू कर दी है। शुरुआती जांच में सामने आए तथ्‍यों के आधार पर देर शाम एसपी हेमराज मीणा ने दारोगा को लाइन हाजिर कर दिया।
कोतवाली के सोनूपार पुलिस क्षेत्र की रहने वाली लड़की ने शिकायत की है कि कुछ महीने पहले वह अपने बुआ के बेटे के साथ बाइक से दवा लेने जा रही थी। आरोप है कि इस दौरान तत्कालीन सोनूपार चौकी इंचार्ज ने चेकिंग के नाम पर बाइक रोक ली। बुआ के बेटे को घंटों चौकी पर बैठाए रखा और बाद में मेरा मोबाइल नंबर लेकर हम दोनों को छोड़ा। उसी दिन शाम से फोन कर अश्लील बात करने लगा। विरोध करने के साथ ही नंबर ब्लॉक कर दिया तो दरोगा व्हाट्सअप पर मैसेज भेजने लगा। इस पर उसने व्हाट्सअप पर भी उसका नंबर ब्लॉक कर दिया। लड़की का आरोप है कि कुछ दिन बाद दवा लेने जाते वक्त फिर दरोगा ने चौकी पर रोक लिया और धमकी दी कि अगर मेरी बात नहीं मानोगी तो तुम्हारे परिवार को फर्जी मुकदमे में फंसाकर बर्बाद कर दूंगा। जानकारी घरवालों को दी तो सदर सर्किल की एक चौकी पर तैनात मनबढ़ दरोगा के बड़े भाई से शिकायत करने मेरे भाई गए। उन्होंने पूरी बात समझने के बाद छोटे भाई से बात की और कहा कि उसे खूब डांटा है और अब वह ऐसी गलती नहीं करेगा। मोबाइल का डाटा डिलीट कर दो। ऐसा न करने पर जबरन भाई का मोबाइल लेकर डाटा डिलीट किया और उसे अपशब्द कहते हुए भगा दिया। आरोप है कि तत्कालीन चौकी प्रभारी सोनूपार ने गांव के विपक्षियों से मिलकर घरवालों पर एक-एक करके चार फर्जी मुकदमे भी दर्ज करा दिए।
परिवार को खतरा बताते हुए युवती ने आईजी रेंज अनिल कुमार को शिकायती पत्र के साथ व्हाट्सअप मैसेज का स्क्रीन शॉट, फोन पर बातचीत की रिकार्डिंग व वीडियो क्लिप सौंपकर कार्रवाई की मांग की है। आईजी के आदेश पर एएसपी रवीन्द्र कुमार सिंह ने जांच शुरू कर दी है। शुक्रवार को भाई संग पहुंची युवती के बयान एएसपी कार्यालय पर दर्ज किए गए। आरोपी दरोगा मौजूदा समय में हाइवे से सटी एक चौकी का प्रभारी है, जबकि उसे संरक्षण दे रहा उसका सगा भाई भी सदर सर्किल की एक पुलिस चौकी का प्रभारी है।
आईजी रेंज के आदेश पर जांच शुरू कर दी गई है। प्रकरण से संबंधित लोगों के बयान दर्ज किए जा रहे हैं। जांच पूरी कर जल्द ही रिपोर्ट उच्चाधिकारियों को सौंप दी जाएगी। मामले के सामने आने के बाद क़ानून के रखवालों पर कौन नकेल कसेगा इसके सवा उठने स्वाभाविक हैं।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.