आज डीजल और पेट्रोल के दाम में कोई फेरबदल नहीं

एसएंडपी 500 और डाउ इंडस्ट्रियल्स के वायदा अनुबंधों दोनों में 1.9 प्रतिशत की गिरावट आई।

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ): अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उनकी पत्नी मेलेनिया ट्रंप को कोविड-19 संक्रमण की खबरों के बाद कल अमेरिका शेयरों के वायदा कारोबार और एशियाई बाजारों में गिरावट आई। एसएंडपी 500 और डाउ इंडस्ट्रियल्स के वायदा अनुबंधों दोनों में 1.9 प्रतिशत की गिरावट आई। इसके अलावा कच्चे तेल के दाम भी फिसल गए। इधर, घरेलू बाजार में देखें तो सरकारी तेल कंपनियों ने आज डीजल और पेट्रोल के दाम में कोई फेरबदल नहीं किया। शनिवार को दिल्ली में पेट्रोल 81.06 रुपये पर और डीजल 70.46 रुपये प्रति लीटर पर टिका रहा। पिछले अगस्त के दूसरे पखवाड़े की शुरूआत से ही पेट्रोल की कीमतों में जो आग लगनी शुरू हुई, वह बीते एक सितंबर तक जारी रही। यदि दिल्ली की बात करें तो यहां बीते 13 किस्तों में पेट्रोल प्रति लीटर 1.65 पैसे महंगा हुआ था। हालांकि, बीते 10 सितंबर के बाद से इसमें ठहर ठहर कर कमी का रुख था और पिछले महीने इसमें 1.19 रुपये की कमी हो चुकी है। पिछले एक महीने की अवधि को देखा जाए तो सरकारी तेल कंपनियों ने डीजल के दाम में काफी कटौती की है। बीते 3 अगस्त से ठहर ठहर कर इसके दाम में या तो कटौती हुई या फिर इसके दाम स्थिर रहे। उससे, महीने भर में डीजल 3.10 रुपये प्रति लीटर सस्ता हो चुका है।कोविड-19 महामारी की वजह से बाजार में क्रूड की कमजोर मांग ने कीमतों को और नीचे कर दिया है। दुनिया भर में कोविड-19 के नए मामलों ने ग्लोबल ऑइल मार्केट को डुबो दिया है। प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं में लॉकडाउन के फिर लगने को लेकर बढ़ती चिंताओं ने क्रूड ऑयल के आउटलुक को कमजोर कर दिया। ओपेक की ओर से उत्पादन में कटौती के बावजूद लीबिया और ईरान ने अपने तेल निर्यात में वृद्धि की और इससे लिक्विड गोल्ड की कीमतों में गिरावट आई। शुक्रवार को अमेरिकी राष्ट्रपति के कोरोना पोजिटिव होने की खबर के बाद तो बाजार में कोहराम मच गया। इस दिन डब्ल्यूटीआई क्रूड 1.67 डॉलर जबकि ब्रेंट क्रूड 1.66 डॉलर सस्ता हो कर बंद हुआ।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.