हथियारों के साथ ड्रग तस्करी की पाकिस्तानी कोशिश को BSF ने किया नाकाम।

बीएसएफ जम्मू के फ्रंटियर आईजी एनएस जम्वाल ने कहा, "खेप में 62 पैकेट ड्रग्स, दो पिस्तौल और चार मैगज़ीन शामिल थे, जिन्हें रविवार सुबह 2 बजे के आसपास बुधवर पोस्ट के पास एक पाइप के जरिए धकेला जा रहा था।"

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ) : BSF ने पाकिस्तान की घटिया चाल के चक्रव्यूह को तोड़ दिया है। पाकिस्तान की ओर से अंतर्राष्ट्रीय सीमा से सटे अरनिया इलाके में भारत में हथियारों, गोला-बारूद और नशीले पदार्थों की तस्करी का परायास किया जा रहा था जिसे BSF ने नाकाम कर दिया। इस इलाके की तलाशी के दौरान, संदिग्ध नशीले पदार्थों के साथ 2 पिस्तौल, 4 मैगज़ीन और गोला-बारूद बरामद किया।
नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो ने कहा कि बीएसएफ द्वारा 19/20 सितंबर की रात को पाकिस्तान की तरफ से अंतर्राष्ट्रीय सीमा से सटे अरनिया इलाके में भारत में हथियारों, गोला-बारूद और नशीले पदार्थों की तस्करी के प्रयास के बाद 62 पैकेट ड्रग्स जब्त किए गए थे। पूरे इलाके में सर्च ऑपरेशन चल रहा है।
बीएसएफ जम्मू के फ्रंटियर आईजी एनएस जम्वाल ने कहा, “खेप में 62 पैकेट ड्रग्स, दो पिस्तौल और चार मैगज़ीन शामिल थे, जिन्हें रविवार सुबह 2 बजे के आसपास बुधवर पोस्ट के पास एक पाइप के जरिए धकेला जा रहा था।”
बुद्धवार और बुल्लेचक चौकियों के बीएसएफ के जवानों ने रात के समय आईबी के पास पाक व्यक्तियों के संदिग्ध हरकतों को देखा और बाद में गोलीबारी की। जामवाल ने कहा, “लगभग तीन से चार की संख्या में पाकिस्तानी तस्कर, पाकिस्तान वापस चले गए। भारत में उनके संपर्क रहे होंगे, जो शायद बीएसएफ के जवानों द्वारा गोलीबारी के बाद भी भाग गए होंगे।”
उन्होंने कहा, “दवाओं का परीक्षण किया जाना बाकी है, लेकिन आमतौर पर पाकिस्तानी हेरोइन को भारत में भेजने की कोशिश करते हैं।”
कुछ दिनों पहले बीएसएफ ने सांबा सेक्टर में एक सीमा पार सुरंग का पता लगाया था और 20 जून को सीमा प्रहरियों ने कठुआ जिले के हीरानगर सेक्टर के रथुआ इलाके में एक हाथ से लदे पाकिस्तानी ड्रोन को मार गिराया था। जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद को बढ़ावा देने के लिए बेताब पाकिस्तान अब हथियारों का इस्तेमाल करने के लिए सभी संभावित साधनों का सहारा ले रहा है। हथियारों, गोला-बारूद, नशीले पदार्थों और आतंकवादियों को कश्मीर में धकेलने के लिए ट्रांस बॉर्डर सुरंग खोद रहा है। भारत पाक की सीमा पर पाक द्वारा ऐसी घटित्या हरकतों का इतिहास पुराना रहा है।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.