ट्रम्प ने कहा- स्कूलों में फिर से राष्ट्रवाद की शिक्षा की नीति पर काम करेंगे।

ट्रम्प ने वामपंथी विचारधारा पर हमला बोलते हुए कहा- देश के स्कूलों में अब पढ़ाई के दौरान अमेरिकी विचारधारा को शामिल किया जाएगा।

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ) : अमेरिका में चुनाव समीप आ रहे हैं और चुनावी घोषणाओं का दौर शुरू हो गया है। शुक्रवार को नेशनल आर्काइव्स म्यूजियम में एक कार्यक्रम के दौरान ट्रम्प ने खुद को अमेरिकी विरासत का रक्षक बताया। उन्होंने कहा कि दोबारा सत्ता में आने के बाद स्कूलों में राष्ट्र प्रेम और राष्ट्रवाद को सिलेबस में शामिल करेंगे। ट्रम्प ने इस दौरान वामपंथी विचारधारा पर हमला बोलते हुए कहा- देश के स्कूलों में अब पढ़ाई के दौरान अमेरिकी विचारधारा को शामिल किया जाएगा।
ट्रम्प ने कहा, “मैं उन बातों को अमेरिकी स्कूलों तक नहीं पहुंचने दूंगा जो अमेरिका को नस्लवादी समाज के तौर पर पेश करती हैं। एक कमीशन बनाउंगा जो राष्ट्रवादी शिक्षा को स्कूलों तक पहुंचाएगा। अमेरिका में बीते कुछ महीनों में नस्लीय हिंसा हुई। इस दौरान ऐतिहासिक स्थलों और मूर्तियों को नुकसान पहुंचाया गया। डेमोक्रेट कैंडिडेट जो बाइडेन के संबंध हिंसा फैलाने वाले लोगों से हैं।”
ट्रम्प ने कहा “हम नेशनल हीरोज को नहीं भूल सकते। अपने युवाओं को अमेरिका से प्यार करना सिखाएंगे।” मई में मिनेपोलिस में अश्वेत जॉर्ज फ्लॉयड की पुलिस के हाथों मौत हुई थी। इसके बाद भी ऐसी कुछ घटनाएं हुईं। फिर ब्लैक लाइव्स मैटर नाम से एक आंदोलन शुरू हुआ। इस दौरान देश के कई हिस्सों में हिंसा होती रही। इसके बाद से ट्रम्प डेमोक्रेटिक पार्टी को वामपंथी विचारधारा से प्रेरित बता रहे हैं। कॉन्स्टीट्यूशन डे यानी संविधान दिवस समारोह में ट्रम्प ने कहा था कि एक कट्टरपंथी आंदोलन हमारी विरासत को खत्म करने के लिए चलाया जा रहा है।
इससे पहले भी ट्रम्प ने कई बार राष्ट्रवाद का मुद्दा उठाया और कई बार वामपंथी या मार्क्सवादी विचारधारा पर निशाना साधा। ट्रम्प ने पिछले दिनों कहा था, “हाल के दिनों में आपने जो हिंसा देखी वो दशकों से चली आ रही वामपंथी विचारधारा का नतीजा है, और ये हमारे स्कूलों में पढ़ाई जाती रही है।” ट्रम्प ने कहा है कि अब अब समय की आवश्यकता हाई की अमेरिका अपने महान इतिहास के विषय में आने वाले पीढ़ी को बताए।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.