कंगना-उद्धव ठाकरे विवाद पर देवेंद्र फडणवीस ने कहा, दाऊद का घर छोड़ दिया और कंगना का तोड़ दिया

फडणवीस ने उद्धव सरकार और शिवसेना पर निशाना साधते हुए कहा, 'कंगना रनौत के मामले को आपने (शिवसेना) ने हद से ज्‍यादा तूल दिया है। वह कोई नेता नहीं है।

महाराष्ट्र में सत्तारूढ़ शिवसेना और ऐक्ट्रेस कंगना रनौत (Kangana Ranaut) के बीच जारी घमासान ने सियासी रंग ले लिया है। पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कंगना रनौत के दफ्तर को तोड़े जाने को लेकर उद्धव ठाकरे सरकार पर निशाना साधा है। फडणवीस ने कहा है कि दाऊद इब्राहिम का घर नहीं तोड़ा जाता, जबकि कंगना का घर तोड़ दिया जा रहा है।

फडणवीस ने उद्धव सरकार और शिवसेना पर निशाना साधते हुए कहा, ‘कंगना रनौत के मामले को आपने (शिवसेना) ने हद से ज्‍यादा तूल दिया है। वह कोई नेता नहीं है। आप दाऊद का घर तो तोड़ने गए नहीं लेकिन आपने उसका बंगला तोड़ दिया।’ इससे कुछ दिन पहले फडणवीस ने बीएमसी की कार्रवाई पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए हिंदी में एक ट्वीट में किया था, कि यह एक तरह से राज्य में ‘सरकार द्वारा प्रायोजित आतंक’ है।

इस विवाद के बीच केंद्रीय मंत्री रामदास आठवले ने महाराष्ट्र के गवर्नर भगत सिंह कोश्यारी से मुलाकात की। आठवले ने कंगना रनौत के दफ्तर पर बीएमसी की कार्रवाई को गलत ठहराते हुए राज्यपाल से मुआवजे की मांग की। इससे पहले गुरुवार को रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया के चीफ रामदास आठवले ने कंगना से उनके आवास पर करीब 1 घंटे तक मुलाकात की थी। आठवले ने कंगना को सुरक्षा का वादा करते हुए कहा था कि अगर वह राजनीति में आना चाहती हैं तो बीजेपी और RPI उनका स्वागत करेगी।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.