‘पुजारी’ बनकर करता रहा अपराध, जब गिरफ्तार हुआ तो निकला “हबीब का बेटा सिराज”

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ) : यह पहली ऐसी घटना नहीं है जब कोई अपराधी गैर मत और मजहब का होने के बाद अपने नाम के साथ हिंदुओं के पवित्र शब्दों को जोड़ता हो। चित्रकूट में एक लंबे समय तक आतंक फैलाने वाले डाकू शंकरवा की गिरफ्तारी के बाद यह सामने आया था कि उसका असल नाम मोहम्मद हनीफ है। फिर भी महादेव शिव के नाम से उसने एक लंबे समय तक आतंक और अपराध का नंगा नाच खेला था जो पुलिस की एक मुठभेड़ के बाद जैसे-तैसे थम पाया। लेकिन यह एकमात्र ऐसा नया मामला नहीं था। लव जिहाद के केसों में इस प्रकार के तमाम मामले आए दिन साफ-साफ देखे जाते हैं जब कोई अपराधी अपना नाम बदलकर हिंदू नाम से हिंदू बच्चियों को अपने जाल में फंसा कर उनका जीवन बर्बाद कर देता है। और लगभग यही सब अपनाया गया है अपराध जगत में भी जिसमें कभी बरेली का कोई मुस्लिम अपराधी पंडित जी नाम से तो चित्रकूट का डाकू हनीफ शंकरवा के नाम से और अब बहराइच में एक और अपराधी सिराज हिंदू मंदिरों में पूजा करने वाली उपाधि और आम जनता के पूजनीय पुजारी के नाम से गिरफ्तार किया गया है। बहराइच पुलिस द्वारा जारी प्रेसनोट के अनुसार गैगेस्टर एक्ट का 1 वांछित अभियुक्त गिरफ्तार किया गया है.. दिनांक 11.08.2020 थाना मोतीपुर का है ये प्रकरण जब मुकदमा अपराध संख्या – 270/20 धारा 3(1) उ0प्र गिरोह बन्द एवं समाज बिरोधी क्रिया कलाप नि0 अधि0 1986 (गैंगस्टर एक्ट) में ये कार्यवाही हुई.. मिले विवरण के अनुसार पुलिस अधीक्षक बहराइच डॉ विपिन कुमार मिश्र द्वारा अपराध एवं अपराधियो के रोक थाम के सम्बन्ध मे चलाये जा रहे अभियान के अनुक्रम में अपर पुलिस अधीक्षक महोदय (ग्रामीण) श्री अशोक कुमार व क्षेत्राधिकारी कमलेश कुमार सिंह के निर्देशन में प्रभारी निरीक्षक मोतीपुर जय नारायण शुक्ल के कुशल नेतृत्व में बहराइच पुलिस ने एक सराहनीय कार्य किया है। दिनांक 11.08.2020 को ग्राम मोतीपुर से समय करीब 08.45 बजे अभियुक्त पुजारी को पकड़ा गया था जिसका असली नाम सिराज पुत्र हबीब निवासी मोतीपुर थाना मोतीपुर बहराइच निकला.. इस अभियुक्त को गिरफ्तार कर के जेल भेज दिया गया है.. पुजारी नाम रख कर अपराध करने वाले सिराज को गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम में सब इंस्पेक्टर धीरेन्द्र मिश्र थाना मोतीपुर जनपद बहराइच, कांस्टेबल हरेन्द्र यादव थाना मोतीपुर जनपद बहराइच प्रमुख रहे.. बहराइच पुलिस के इस सराहनीय कार्य की प्रशंसा आम जनता में मुक्त कंठ द्वारा की जा रही है और समाज हैरानी से या जानने का प्रयास कर रहा है किस राज्य में अपराध करने के लिए अपना नाम पुजारी क्यों रखा था।

 

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.