191 यात्रियों के साथ दुबई से केरल के कालीकट में लैंड होने आ रहा विमान हुआ क्रैश, पायलट की मौत।

प्लेन में कुल 191 लोग सवार थे।डायरेक्टरेट जनरल ऑफ सिविल एविएशन (डीजीसीए) ने इस मामले में विस्तृत जांच के आदेश दिए हैं।

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ) : केरल में आज एक बड़ी विमान दुर्घटना हुई है। दुबई से केरल आ रहा एयर इंडिया का विमान केरल के कोझिकोड इंटरैनशल एयरपोर्ट (कारीपुर एयरपोर्ट) के पास क्रैश हो गया है। जानकारी के मुताबिक, यह विमान रनवे से फिसलने के बाद घाटी में जा गिरा और दुर्घटना का शिकार हो गया। प्लेन उड़ा रहे पायलट की मौत हो गई है। प्लेन में कुल 191 लोग सवार थे।डायरेक्टरेट जनरल ऑफ सिविल एविएशन (डीजीसीए) ने इस मामले में विस्तृत जांच के आदेश दिए हैं।हादसे के बाद राहत और बचाव के लिए टीमें पहुंच गई हैं। फायर ब्रिगेड और ऐम्बुलेंस की गाड़ियां घटनास्थल पर मौजूद हैं। जानकारी के मुताबिक, इस फ्लाइट की उड़ान संख्या IX1344 है। यह प्लेन दुबई से शाम के 4 बजकर 45 मिनट पर उड़ा था। प्लेन में सवार कुल 191 लोगों में 174 वयस्क यात्री, 10 नवजात, दो पायलट और पांच क्रू मेंबर शामिल थे। घायलों को अस्पताल ले जाया जा रहा है और घटनास्थल पर दो दर्जन से ज्यादा ऐम्बुलेंस लगाई गई हैं। जानकारी के मुताबिक, शाम को 7 बजकर 41 मिनट पर लैंडिंग के वक्त प्लेन रनवे से फिसलकर घाटी में जा गिरा। फिलहाल घायलों और मृतकों की संख्या के बारे में कोई पुष्ट जानकारी नहीं मिल पाई है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, भारी बारिश के कारण रनवे पर जलभराव हो गया था, इसी वजह से प्लेन रनवे से आगे निकल गया और लगभग 30 फीट गहरी खाई में जा गिरा। प्लेन बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया है और इसके दो हिस्से हो गए हैं।
कोझिकोड के इंटरनैशनल एयरपोर्ट पर ये हादसा शाम करीब 7 बजकर 40 मिनट पर हुआ था। इस दौरान दुर्घटनाग्रस्त हुआ विमान रनवे पर फिसला और फिर 30 फीट गहरी खाई में चला गया।
दुर्घटना का शिकार हुए विमान का नंबर IX1344 है। यह प्लेन दुबई से शाम के 4 बजकर 45 मिनट पर उड़ा था। जानकारी के मुताबिक, शाम को 7 बजकर 41 मिनट पर लैंडिंग के वक्त प्लेन रनवे से फिसलकर घाटी में जा गिरा।
दुर्घटना का शिकार हुए प्लेन में 184 यात्री और दो पायलट समेत कुल छह क्रू मेंबर सवार थे। हादसे में प्लेन के पायलट की मौत हो गई है।
हादसा इतना जबरदस्त था कि इसके कारण विमान दो हिस्सों में टूट गया। घटना की जानकारी मिलने के बाद एयरपोर्ट अथॉरिटी के अधिकारियों में हड़कंप मच गया, जिसके बाद तत्काल राहत टीमों को मौके पर भेजा गया।
मौके पर एक बड़े राहत कार्य के लिए फायर ब्रिगेड, ऐम्बुलेंस और रिलीफ फोर्सेज को भेज दिया गया है। इसके अलावा कोझिकोड के अस्पतालों को भी अलर्ट किया गया है, जिससे कि घायल हुए लोगों को इलाज के लिए यहां पर भेजा जा सके। डीजीसीए के आधिकारिक बयान में बताया गया कि कारीपुर एयरपोर्ट के रनवे नंबर 10 पर लैंड करने के बाद प्लेन फिसल गया और घाटी में गिरकर दो हिस्सों में बंट गया। प्लेन में 191 लोग सवार थे और लैंडिंग के वक्त विजिबिलिटी 2000 मीटर थी। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने घटना पर दुख जताया है। अपने ट्वीट में उन्होंने लिखा, ‘केरल के कोझिकोड में एयर इंडिया एक्सप्रेस के विमान के दुर्घटनाग्रस्त होने की खबर सुनकर दुख हुआ। एनडीआरएफ की टीम को घटनास्थल पर पहुंचने और रेस्क्यू ऑपरेशन में मदद करने के लिए निर्देशित किया है।’  एनडीआरएफ के महानिदेशक एस एन प्रधान ने बताया कि टीमें कारीपुर एयरपोर्ट के लिए भेजी गई हैं। केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने बताया कि पुलिस और फायर ब्रिगेड को तुरंत कार्रवाई करने के निर्देश दिए गए हैं। साथ ही रेस्क्यू और मेडिकल सपोर्ट के लिए भी जरूरी इंतजाम करने के लिए अधिकारियों को निर्देशित किया गया है। दुबई में भारतीय दूतावास ने हेल्पलाइन नंबर जारी कर दिए हैं। साथ ही कहा है कि जानकारी मिलते ही साझा की जाएगी। ये हेल्पलाइन नंबर हैं- 056 546 3903, 0543090572, 0543090572, 0543090575, इन नंबरों पर फोन करके प्लेन में सवार यात्रियों के संबंध में जानकारी ली जा सकती है। कोझिकोड कारीपुर एयरपोर्ट पर राहत और बचाव कार्य के लिए कम से कम 15 ऐंबुलेंस को लगाया गया है। केरल के सीएम पिनरई विजयन ने विमान हादसे के बाद ट्वीट करके कहा- पुलिस और दमकल विभाग को कोझिकोड एयरपोर्ट पर तेजी से काम करने का निर्देश दिया है। बचाव और मेडिकल सहायता के लिए अफसरों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए गए हैं। उधर, केंद्रीय मंत्री वी मुरलीधरन ने टाइम्स नाउ को जानकारी दी है कि कोझिकोड में विमान हादसे के बाद राहत और बचाव कार्य जारी है, लोगों को अस्पताल भेजा रहा है।बचाव कार्य जारी हैं और राहत कार्यों के पूर्ण होने के पश्चात सही स्थिति के बारे में तस्वीर पूरी तरह साफ़ होगी।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.