सोने के रेट में आया उछाल आया, चांदी में 1270 रुपये प्रति किलोग्राम की तेजी

सोने के रेट में आज 678 रुपये का प्रति 10 ग्राम का उछाल आया। इससे पहले एक जुलाई को सोना 48980 रुपये पर पहुंचा था।

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ): सोने-चांदी की कीमतों में आज बड़ा उछाल देखने को मिला। आज सोना एक नया इतिहास रचते हुए ऑल टाइम हाई 49122 रुपये प्रति दस ग्राम पर पहुंच गया है। बता दें बुधवार सुबह देशभर के सर्राफा बाजारों में 24 कैरेट सोने का हाजिर भाव 510 रुपये प्रति 10 ग्राम उछल कर 48954 रुपये पर खुला और शाम को यह 49122 रुपये पर पहुंच गया। सोने के रेट में आज 678 रुपये का प्रति 10 ग्राम का उछाल आया। इससे पहले एक जुलाई को सोना 48980 रुपये पर पहुंचा था।  वहीं चांदी आज 1270 रुपये प्रति किलोग्राम की तेजी के साथ 50140 रुपये पर पहुंच गई। वहीं बुधवार को वैश्विक स्तर पर न्यूयॉर्क में सोना भाव 0.05 प्रतिशत की तेजी के साथ 2011 के बाद पहली बार 1810.80 डॉलर प्रति औंस तक उछला। बीते नौ साल में पहली बार सोना ने 1800 डॉलर पति औंस के स्तर को तोड़ा है। वैश्विक बाजार में बहुमूल्य धातुओं की कीमत में उछाल और रुपये में गिरावट के चलते दिल्ली सर्राफा बाजार में सोना भाव बुधवार को 723 रुपये की बढ़त के साथ बंद हुआ। सोना 49,898 रुपये प्रति दस ग्राम पर रहा। मंगलवार को सोना भाव 49,175 रुपये प्रति 10 ग्राम रहा था।हालांकि चांदी भाव 104 रुपये टूटकर 50,416 रुपये प्रति किलोग्राम रह गया। मंगलवार को चांदी 50,520 रुपये प्रति किलोग्राम पर थी। एचडीएफसी सिक्युरिटीज के वरिष्ठ विश्लेषक (जिंस) तपन पटेल ने कहा, ” दिल्ली में 24 कैरेट के सोने का भाव 723 रुपये बढ़ गया। इसकी प्रमुख वजह अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोना भाव बढ़ना और रुपये का कमजोर रहना रही। बुधवार को डॉलर के मुकाबले रुपया (आरंभिक आंकड़ों के हिसाब से) नौ पैसे टूटकर 75.02 रुपये पर बंद हुआ।     अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोना भाव 1,800 डॉलर प्रति औंस और चांदी 18.36 डॉलर प्रति औंस पर रही। पटेल ने कहा कि कोविड-19 संकट के बाद से लोग सुरक्षित निवेश के तौर पर सोने में निवेश कर रहे हैं। इससे सोने का भाव लगातार बढ़ रहा है। मजबूत हाजिर मांग के कारण सटोरियों ने ताजा सौदों की लिवाली की जिससे वायदा कारोबार में बुधवार को सोना की कीमत 88 रुपये की तेजी के साथ 48,888 रुपये प्रति 10 ग्राम हो गई। एमसीएक्स में सोने के अगस्त माह में डिलीवरी वाले अनुबंध की कीमत 88 रुपये अथवा 0.18 प्रतिशत की तेजी के साथ 48,888 रुपये प्रति 10 ग्राम हो गई जिसमें 11,200 लॉट के ₨लिए कारोबार हुआ।  बाजार विश्लेषकों ने कहा कि कारोबारियों की ताजा लिवाली से मुख्यत: सोने की कीमतों में तेजी आई। वैश्विक स्तर पर न्यूयॉर्क में सोना भाव 0.05 प्रतिशत की तेजी के साथ 1,810.80 डॉलर प्रति औंस हो गया। साल 2001 के बाद से सोने ने प्रतिवर्ष 13 प्रतिशत का रिटर्न दिया है। पिछले 15 वर्षों में तो सोने ने प्रतिवर्ष 14.7 प्रतिशत का लाभ दिया है। पिछले 10 वर्षों में सोने ने प्रति वर्ष 10.1 प्रतिशत और पिछले पांच वर्षों में प्रति वर्ष 12.8 प्रतिशत का लाभ दिया है। वहीं दो साल में सोने ने 55% रिटर्न दिया, पिछले छह महीने में ही 24% तक बढ़ इसकी कीमत बढ़ चुकी है। बता दें विगत वर्षों में डॉलर के मुकाबले रुपये में लगातार गिरावट आई है और इससे भी सोने की कीमत में तेजी रही है। देश के मुश्किल आर्थिक दौर में प्रवेश करने के साथ, डॉलर के मुकाबले रुपये का मूल्य कम रहने की आशंका अधिक है। अमेरिकी शेयरों का असर दुनिया भर के शेयर बाजारों पर पड़ता है, इसलिए अगर अमेरिकी शेयर नीचे जाते हैं, तो यह सोने के लिए अच्छी खबर है। वहीं सावधि जमा पर ब्याज कम हुआ है। अन्य ब्याज दरें भी कम रहने की संभावना है, क्योंकि आने वाले समय में बैंक की ऋण वृद्धि में और कमी आएगी। बीएसई सेंसेक्स, भारत का प्रमुख शेयर बाजार सूचकांक, उस उच्च स्तर से लगभग 16 प्रतिशत नीचे है, जो उसने इस साल की शुरुआत में मध्य जनवरी में हासिल की थी। साथ ही, शेयर सूचकांक बहुत अस्थिर भी रहा है। 14 जनवरी को यह 41,952.63 अंक के उच्च स्तर तक पहुंच गया था, पर 23 मार्च तक 38 प्रतिशत तक की नाटकीय गिरावट आ गई, इससे शेयर निवेश से होने वाले लाभ में भारी कमी आई। केडिया कमोडिटीज के डायरेक्टर अजय केडिया कहते हैं कि कोरोना वायरस का संक्रमण कम होने के बजाय बढ़ता जा रहा है। इससे शेयर बाजारों में जहां अनिश्चितता का माहौल है वहीं रियल एस्टेट भी पस्त पड़ा है। इस दौर निवेशकों के लिए सबसे सुरक्षित सोना ही नजर आ रहा है। निवेशकों का रुझान गोल्ड, गोल्ड ईटीएफ और बॉन्ड की तरफ बढ़ा है। यही वजह है कि सोने के रेट बढ़ते जा रहे हैं। सोना कब सस्ता होगा? इस सवाल पर केडिया कहते हैं कि सोने के दाम तभी गिरेंगे जब मार्केट में कोई कोरोना की वैक्सीन आ जाए और वह सफल भी हो। इसके अलावा भारत और चीन सोना नहीं खरीदते हैं तो दाम कुछ कम हो सकते हैं। फिर भी सोना 44000 से नीचे नहीं जाएगा। ये करेक्शन कोरोना वैक्सीन आने पर दिख सकता है। इंडिया बुलियन एंड ज्वैलर्स एसोसिएशन दिल्ली के मीडिया प्रभारी राजेश खोसला के मुताबिक ibja देशभर के 14 सेंटरों से सोने-चांदी का करेंट रेट लेकर इसका औसत मूल्य बताता है। खोसला कहते हैं कि सोने-चांदी का करेंट रेट या यूं कहें हाजिर भाव अलग-अलग जगहों पर अलग हो सकते हैं पर इनकी कीमतों में मामूली अंतर होता है।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.