रेलटेल लगाएगा देश के 6049 स्टेशनों पर सीसीटीवी।

सीसीटीवी कैमरों से वीडियो फीड की रिकॉर्डिंग 30 दिनों के लिए संग्रहीत की जाएगी, तकि जरूरत पड़ने पर इसका विश्लेषण और जांच की जा सके।

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ) : ओम तिवारी : रेलवे अपने स्टेशनों की सुरक्षा बढ़ाने पर बड़ा फ़ैसला ले रहा है।  रेलवे ने रेलटेल के साथ आपसी सहमति के एमओयू पर हस्ताक्षर किए हैं। यह करार देश भर के 6,049 रेलवे स्टेशनों पर आइपी आधारित वीडियो निगरानी प्रणाली (IP-based CCTV cameras) स्थापित करने के लिए किया गया है। रेलटेल रेल मंत्रालय के अधीन एक सार्वजनिक क्षेत्र की इकाई है। रेलटेल भारतीय रेल (Indian Railway) के ए1, ए, बी, सी, डी और ई श्रेणी के तहत 6,049 स्टेशनों पर वीडियो निगरानी प्रणाली (वीएसएस) मुहैया कराएगा। रेलवे के मौजूदा एकल सीसीटीवी नेटवर्क को वीएसएस से जोड़ना भी इसमें शामिल है। यह कदम केंद्रीयकृत निगरानी के लिए उठाया जाएगा। इससे पहले रेलटेल ने श्रमिक स्पेशल ट्रेनों को चलाने और उनकी सुविधा के लिए 54 रेलवे स्टेशनों के प्रवेश और निकास स्थानों पर सीसीटीवी कैमरे भी उपलब्ध कराए हैं। सीसीटीवी कैमरों से वीडियो फीड की रिकॉर्डिंग 30 दिनों के लिए संग्रहीत की जाएगी, तकि जरूरत पड़ने पर इसका विश्लेषण और जांच की जा सके। रेलवे की ओर से जारी एक बयान में कहा गया है, ‘ये आइपी आधारित सीसीटीवी कैमरे आप्टिकल फाइबर पर काम करेंगे और सीसीटीवी के वीडियो फीड नजदीक के आरपीएफ थाना, चौकी नियंत्रण कक्ष तक लाए जाएंगे। वहां आरपीएफ कर्मी एलसीडी मानीटरों पर वीडियो फीड देखेंगे। इससे यात्रियों की सुरक्षा में वृद्धि होगी। रेलटेल ने देश भर में 215 स्टेशनों पर वीएसएस स्थापित कर दिया है। सितंबर 2020 तक अन्य 85 स्टेशनों पर स्थापित किया जाएगा।’ रेलवे ने मार्च में कोरोना वायरस लॉकडाउन घोषित किए जाने के समय से 1.91 लाख पर्सनल प्रोटेक्शन गाउन, 66,000 लाख से ज्यादा हैंड सैनिटाइजर और 7.33 लाख मास्क तैयार किए हैं। रेलवे जून और जुलाई में 1.5-1.5 लाख पीपीई तैयार करने का लक्ष्य हासिल करने में जुटा है। यात्रियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के रेलवे गंभीर क़दम उठा रहा है।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.