वायुसेना प्रमुख ने लद्दाख मामले पर कहा- बहादुरों का बलिदान नहीं जाएगा व्यर्थ।

वायुसेना प्रमुख ने कहा, 'यह बहुत साफ होना चाहिए कि हम किसी भी आकस्मिकता का जवाब देने के लिए पूरी तरह से तैयार और तैनात हैं।

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ) : ओम तिवारी :  चीन की नीच हरकतें LAC पर जारी हैं। वायुसेना प्रमुख आरकेएस भदौरिया ने पूर्वी लद्दाख में हुई भारत-चीन सैनिकों के बीच झड़प पर कहा कि गलवान घाटी में जांबाजों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाने देंगे। उन्होंने कहा कि हम किसी का भी जवाब देने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं। वायुसेना प्रमुख ने कहा, ‘यह बहुत साफ होना चाहिए कि हम किसी भी आकस्मिकता का जवाब देने के लिए पूरी तरह से तैयार और तैनात हैं। मैं देश को विश्वास दिलाता हूं कि हम गलवान घाटी के बहादुरों के बलिदान को कभी व्यर्थ नहीं जाने देंगे।’ उन्होंने आगे कहा, ‘सैन्य वार्ता के दौरान समझौतों के बाद अस्वीकार्य चीनी कार्रवाई और जवानों की शहादत के बावजूद भी हम यह सुनिश्चित करने के लिए सभी प्रयास चल रहे हैं कि एलएसी में वर्तमान स्थिति को शांतिपूर्वक हल किया जाए।’ वायुसेना प्रमुख आरकेएस भदौरिया ने कहा कि हमारे क्षेत्र में सुरक्षा परिदृश्य यह बताता है कि हमारे जवान हर समय तैयार और सतर्क रहते हैं। लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर कम समय के बावजूद भी हमने जिस तरह से कार्रवाई की, वह एक छोटा सा उदाहरण है। उन्होंने आगे कहा, ‘कृपया कर्नल संतोष बाबू और उनके बहादुर लोग जिन्होंने गलवान घाटी में एलएसी का बचाव करते हुए बलिदान दिया, उनको श्रद्धांजलि देने में मेरे साथ शामिल हों। ये चुनौतीपूर्ण स्थितियों में वीरता से किसी भी कीमत पर भारत की संप्रभुता की रक्षा करने के हमारे संकल्प को दिखाता है।’ वायुसेना प्रमुख आर.के.एस. भदौरिया कंबाइंड ग्रेजुएशन परेड के लिए हैदराबाद स्थित भारतीय वायुसेना अकादमी पहुंचे थे। इस दौरान उनकी मौजूदगी में भारतीय वायुसेना के जांबाजों ने आसमानी करतब भी दिखाए। भारतीय सेनाओं ने किसी भी परिस्थिति से निपट सकने की अपनी क्षमताओं का बख़ूबी प्रदर्शन किया है।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.