उत्तराखंड : मंत्री सतपाल महाराज में यदि कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई तो पूरा मंत्रिमंडल हो जाएगा क्वारंटीन।

प्रदेश में जब कोरोना संक्रमण का पहला मामला सामने आया था तो सतपाल महाराज ही एक मात्र ऐसे मंत्री थे, जो कैबिनेट में संक्रमण से बचने के लिए मास्क पहनकर गए थे।

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ) : ओम तिवारी : कोरोना के संक्रमण से आम जनता से लेकर नेतागण भी प्रभावित हुए हैं। उत्तराखंड में कोरोना वायरस संक्रमण को लेकर काफी सतर्क रहने वाले कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज के घर तक कोरोना संक्रमण पहुंच गया। शनिवार को देहरादून की एक निजी लैब में उनकी पत्नी अमृता रावत में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है।
महाराज का सैंपल भी पॉजिटिव निकला तो मंत्रिमंडल को क्वारंटीन होना पड़ेगा। ऐसा इसलिए क्योंकि, शुक्रवार को हुई कैबिनेट बैठक में महाराज भी मौजूद थे। प्रदेश में जब कोरोना संक्रमण का पहला मामला सामने आया था तो सतपाल महाराज ही एक मात्र ऐसे मंत्री थे, जो कैबिनेट में संक्रमण से बचने के लिए मास्क पहनकर गए थे। इस पर सहयोगी मंत्रियों ने मजाक भी किया था। 23 मई को अपने आवास पर उन्होंने प्रदेश के लोक कलाकारों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग में बाकायदा संक्रमण से बचाव के लिए फेस ग्लास पहना था। इतनी एहतियात बरतने के बाद भी कोरोना वायरस संक्रमण उनके घर तक पहुंच गया। शनिवार को उनकी पत्नी में कोरोना संक्रमण पाया गया। इससे पूरे स्वास्थ्य विभाग भी हड़कंप मचा हुआ है। भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) की गाइड लाइन के अनुसार स्वास्थ्य विभाग की टीम महाराज का सैंपल जांच के लिए भेजेगी। यदि जांच में महाराज का सैंपल पॉजिटिव आता है तो मंत्रिमंडल भी क्वारंटीन किया जाएगा। शुक्रवार को हुई कैबिनेट बैठक में महाराज की अन्य मंत्रियों और अधिकारियों से मुलाकात हुई थी। पिछले एक सप्ताह में महाराज और उनके स्टाफ से मिलने वालों को चिन्हित किया जा रहा है। हालांकि इस बीच महाराज कर्जन रोड स्थित अपने आवास पर रहे। लेकिन उनसे लोग मिलने आते थे। कुछ दिन पहले ही दिल्ली आश्रम से तीन लोग उनके आवास स्थित कार्यालय में आए थे। प्रशासन ने तीन लोगों को वहीं क्वारंटीन किया था। कोरोना के रोकथाम के लिए फिलहाल सावधानियां ही एक्मार उपाय हैं।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.